JNU छात्र नेता चंद्रशेखर हत्याकांड में दोषियों की उम्रकैद की सजा बरकरार
Siwan News in Hindi

JNU छात्र नेता चंद्रशेखर हत्याकांड में दोषियों की उम्रकैद की सजा बरकरार
पटना हाईकोर्ट

सीबीआई कोर्ट ने ध्रुव कुमार जायसवाल, इलियास वारिस, शेख मुन्ना और रुस्तम खां के खिलाफ उम्रकैद की सजा सुनाई थी.

  • Share this:
पटना हाईकोर्ट ने बिहार के बहुचर्चित जेएनयू छात्र नेता चंद्रशेखर हत्याकांड में उम्र कैद की सजा पाए चारों अभियुक्तों की सजा बरकरार रखी है. जस्टिस एके त्रिवेदी और जस्टिस विनोद कुमार सिंह ने दोषियों की अपील पर सुनवाई कर फैसला सुरक्षित रखा था. कोर्ट ने शुक्रवार को अपना निर्णय सुनाया.

जिन चार अभियुक्तों को सीबीआई कोर्ट ने उम्र कैद की सजा सुनाई है, उनमें ध्रुव कुमार जायसवाल, इलियास वारिस, शेख मुन्ना और रुस्तम खां शामिल हैं. छात्र नेता चंद्रशेखर की हत्या 31 मार्च 1997 को तब कर दी गई थी जब वह सीवान शहर में एक जनसभा को सम्बोधित कर रहे थे. इस मामले में जांच सीबीआई ने किया था.

बाद में सीबीआई अदालत ने सभी पक्षों को सुनने के बाद इन चारों को उम्रकैद की सजा सुनाई थी. निचली अदालत के इस आदेश को चुनौती देते हुए दोषियों ने पटना हाईकोर्ट में अपील दायर की थी. शुक्रवार को हाईकोर्ट ने अपने फैसले में इनकी अपीलों को खारिज करते हुए इन चारों की उम्रकैद की सजा बहाल रखी है.



रिपोर्ट- आनंद वर्मा
ये भी पढ़ें:- 13 मई को इंदौर और रतलाम के दौरे पर रहेंगी प्रियंका गांधी, इन सीटों पर फायदे की उम्मीद

ये भी पढ़ें:- 'जीत के लिए टोने-टोटके और तंत्र का सहारा ले रही कांग्रेस'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज