यू-ट्यूब देखकर युवक ने अपनाई खास तकनीक, अपने दरवाजे पर ही कर रहा है लाखों की कमाई

News18 Bihar
Updated: September 9, 2019, 2:34 PM IST
यू-ट्यूब देखकर युवक ने अपनाई खास तकनीक, अपने दरवाजे पर ही कर रहा है लाखों की कमाई
सीवान के युवक प्रभु शर्मा ने इंटरनेट से तकनीक सीख दरवाजे के सामने मछलीपालन किया. अब कर रहे हैं लाखों की कमाई.

यू-ट्यूब पर वीडियो देखकर प्रभु शर्मा ने बायोफ्लॉक तकनीक अपनाकर मछली पालन शुरू किया. प्रभु ने 60 हजार की लागत से एक 10 हजार लीटर वाला टैंक खरीदा और उसमें लगभग 5000 मांगुर मछलियों का पालन शुरू किया.

  • Share this:
सीवान. सोशल मीडिया ( Social Media) को लेकर अक्सर नकारात्‍मक खबरें (Negative Stories) सामने आती हैं. हालांकि, इसे सकारात्मक अंदाज में देखें तो कई बार यह मार्गदर्शक भी साबित होता है. सीवान के प्रभु शर्मा सोशल साइट यू ट्यूब (You Tube) देखने के शौकीन हैं. उन्होंने इस पर दी गई जानकारी को अपनी कामयाबी की सीढ़ी बनाई और आज वह लाखों रुपये की कमाई कर रहे हैं.

दरौली प्रखंड के प्रभु शर्मा ने सोशल मीडिया से आइडिया लेकर एक ऐसा काम शुरू किया, जो कई लोगों के लिये प्रेरणास्त्रोत बन चुका है. प्रभु शर्मा ने यू ट्यूब पर वीडियो देखकर मछली पालन शुरू कर दिया. कम लागत और हाईटेक तरीके से वह अपने घर के ठीक सामने दरवाजे पर ही मछली पालन कर रहे हैं.

Siwan
घर के दरवाजे पर बायोफ्लॉक तकनीक से मछली पालन कर रहे युवा प्रभु शर्मा.


बायोफ्लॉक तकनीक के साथ मछली पालन

दरअसल, यू ट्यूब पर वीडियो देखकर प्रभु शर्मा ने बायोफ्लॉक तकनीक को अपनाते हुए मछली पालन शुरू किया. प्रभु ने 60 हजार की लागत से एक 10 हजार लीटर वाला पानी टैंक खरीदा और उसमें लगभग 5000 मांगुर मछली को पालना शुरू किया. एक लाख रुपये से ज्यादा लागत वाले इस काम में प्रभु शर्मा 2.40 लाख रुपये तक का मुनाफा कमा लेते हैं. उन्होंने बताया कि दूसरे प्रदेश में जाने से बेहतर स्वरोजगार है.

यू ट्यूब ने किया मार्गदर्शन
प्रभु शर्मा का कहना है कि बिहार के अधिकतर लोग रोजी-रोटी के लिए बाहर चले जाते हैं. उनसे मेहनत भी ज्यादा कराई जाती है और उन्‍हें पैसे भी कम मिलते हैं. प्रभु शर्मा ने बताया कि इसी कारण से उन्‍होंने सोचा कि क्‍यों न खुद का एक अच्छा काम शुरू किया जाए. उनकी मानें तो उन्‍होंने गूगल और यूट्यूब से मछली पालने का तरीका देखकर यह काम शुरू किया था.
Loading...

Siwan
बायोफ्लॉक तकनीक के तहत मछलियों के आहार प्रबंधन के साथ ही साथ इनको प्रभावित करने वाले रोगों से बचाव इत्यादि का खास खयाल रखना जरूरी होता है.


लाखों का हो सकता है फायदा
प्रभु ने बताया कि उन्‍होंने मांगुर मछली का पालन शुरू किया. मछली पालन के लिए पानी को स्वच्छ बनाए रखना, मछलियों के आहार प्रबंधन के साथ इनको प्रभावित करने वाले रोगों से बचाव आदि का खास खयाल रखना जरूरी है. मछली के इस व्यापार में लाखों रुपये का फायदा है, इसलिए उन्‍होंने मछली पालन का काम शुरू किया.

सोशल मीडिया पर जानकारी का भंडार
प्रभु शर्मा ने बेरोजगार युवाओं को संदेश देते हुए कहा कि जो लोग अपने राज्य को छोड़कर दूसरी जगह कमाने जाते हैं, वे खुद का अपना व्यवसाय शुरू करें. वे यह भी कहते हैं कि सोशल मीडिया जानकारी का भंडार है. अगर इसे सकारात्मक तौर पर लिया जाए तो यह आपके जीवन का कायापलट कर सकता है.

रिपोर्ट- मृत्युंजय

ये भी पढ़ें- 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सीवान से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 9, 2019, 1:38 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...