रेलवे द्वारा खोदे गए बोरवेल में जा गिरा युवक, 2 घंटे की मशक्कत के बाद बमुश्किल बची जान

संकरे गढ्ढे में फंसे युवक को बाहर निकालते लोग

संकरे गढ्ढे में फंसे युवक को बाहर निकालते लोग

पूरी घटना बिहार के सीवान की है. बताया जाता है कि महाराजगंज-मशरख रेलखंड पर रामापाली गांव के समीप रेलवे ने बिजली के खंबे लगाने के लिए गहरे गड्ढे खुदाई करके खुला ही छोड़ दिया है.

  • Share this:

सीवान. बिहार के सीवान (Siwan) में रविवार को एक युवक ढेड़ फीट संकरे बोरवेल (Bore Well) में जा गिरा. घटना महाराजगंज थाना क्षेत्र के रामापाल वार्ड नंबर 14 की है. 16 साल का युवक रेलवे (Railway) द्वारा पोल गाड़ने के लिए खोदे गए संकरे में जा गिरा. घटना उस वक्त हुई जब वो अपने साथियों के साथ रेलवे लाइन होकर बाजार से लौट रहा था.

लोगों की मदद से बची जान

किशोर के गड्ढे में गिरने की खबर जैसे ही स्थानीय लोगों तक पहुंची सभी दौड़े-दौड़े उसकी जान बचाने को पहुंचे. इस दौरान दो घंटे बाद भी कोई प्रशासनिक मदद नहीं मिली तो स्थानीय लोगों ने जेसीबी मशीन और कटर की मदद से कंक्रीट की शक्ल ले चुके संकरे गड्ढे से काफी मशक्कत के बाद युवक को सकुशल बाहर निकाल. किशोर की पहचान रामापाली निवासी राजेश्वर साह के 15 वर्षीय पुत्र राजू कुमार के रूप में हुई है.



बिजली के पोल के लिए खोदे गए हैं गड्ढे
बताया जाता है कि महाराजगंज-मशरख रेलखंड पर रामापाली गांव के समीप रेलवे ने बिजली के खंबे लगाने के लिए गहरे गड्ढे खुदाई करके खुला ही छोड़ दिया है. शनिवार को भी रेलवे विभाग के कर्मचारियों ने रामापाली गांव के समीप रेलवे ट्रैक पर गड्ढे की खुदाई कर दी और उसे खुला छोड़ दिया था. इस घटना के बाद से रेलवे प्रशासन के खिलाफ स्थानीय लोगों में आक्रोश है. लोगों का मानना है कि रेलवे विभाग गड्ढे खुदाई करके उसी समय काम को पूरा कर दिया होता या गड्ढे को ढक दिया होता तो इस तरह की घटना नहीं होती.

2 घंटे तक इंतजार करते रहे लोग

किशोर के गड्ढे में गिरने के बाद न तो किसी रेलवे के अधिकारी ने मदद की और न ही प्रशासन ने मदद की. मदद पहुंचने की आस में 2 घंटे बीत जाने के बाद भी प्रशासन नहीं पहुंची जिसके बाद स्थानीय लोगों ने किशोर को बाहर निकालने के लिए रेस्क्यू शुरू किया. स्थानीय सामाजिक कार्यकर्ता सत्येंद्र यादव ने कहा कि रेलवे के ठेकेदार द्वारा यह बड़ी लापरवाही है. गड्ढे की खुदाई के बाद उस स्थल पर प्लेट रख दिया गया होता तो इस तरह की घटना नहीं होती.

रिपोर्ट- मृत्युंजय कुमार

ये भी पढ़ें- गुर्गों समेत गिरफ्तार हुआ मोस्ट वांटेड विशाल सिंह, बिहार-यूपी पुलिस को थी तलाश

ये भी पढ़ें- जिला परिषद उपाध्यक्ष निकला गिरोह का सरगना, साथियों संग लूटता था बैंक

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज