Home /News /bihar /

पुरानी टीम के साथ ही बीजेपी के नये अध्यक्ष करेंगे कार्यसमिति की बैठक, ये है कारण

पुरानी टीम के साथ ही बीजेपी के नये अध्यक्ष करेंगे कार्यसमिति की बैठक, ये है कारण

file photo

file photo

भाजपा के संविधान के मुताबिक नये प्रदेश अध्यक्ष के चयन के बाद जो नयी टीम का गठन होता है उसमें कम से कम 25 प्रतिशत लोगों की जिम्मेदारी बदलना या फिर 25 प्रतिशत नये लोगों को शामिल करना अनिर्वाय होता है

नया प्रदेश अध्यक्ष मिलने के बाद बिहार भाजपा की कार्यसमिति की बैठक 21 और 22 जनवरी को सिवान में होनी है.

बैठक में प्रदेश के सभी वरिष्ठ नेता मौजूद रहेगें लेकिन सूत्रों से जो जानकारी मिल रही है उसके मुताबिक कार्यसमिति में प्रदेश अध्यक्ष पुरानी टीम के साथ ही बैठेंगे. ऐसे में सवाल यह उठता है कि यदि कार्यसमिति में पुरानी टीम ही शामिल होती है तो नयी टीम के गठन के बाद उन निर्णयों का क्या होगा जो पुरानी टीम 21 और 22 जनवरी को लेगी.

भाजपा के संविधान के मुताबिक नये प्रदेश अध्यक्ष के चयन के बाद जो नयी टीम का गठन होता है उसमें कम से कम 25 प्रतिशत लोगों की जिम्मेदारी बदलना या फिर 25 प्रतिशत नये लोगों को शामिल करना अनिर्वाय होता है. नित्यानंद राय के प्रदेश अध्यक्ष के बने तकरीबन सवा महीने बीत चुके हैं. राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह भी बिहार के दौरे से लौट चुके हैं, प्रदेश कार्यालय में नेताओं से बातचीत कर चुके हैं बावजूद इसके नयी टीम का गठन तो दूर प्रदेश कार्यसमीति की बैठक भी पुरानी टीम के भरोसे ही करवाया जा रहा है.

पार्टी के वरिष्ठ नेता नंद किशोर यादव की राय में टीम बदले या नहीं इससे बहुत फर्क नहीं पड़ेगा. दरअसल प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने टीम के गठन की देरी की जो वहज पार्टी के शीर्ष नेताओं दी है वो है वो उत्तर प्रदेश चुनाव में लोगों का वयस्त होना है.

यदि पार्टी के कार्यकारणी की बैठक बिना किसी परिवर्तन के संपन्न होती है तो प्रदेश अध्यक्ष के सामने पुरानी टीम के निर्णयों को नयी टीम से लागू करवा पाना सबसे बड़ी चुनौती होगी. दो से ढ़ाई साल बाद पार्टी को लोकसभा चुनावों में जाना है. पार्टी के मुख्य प्रवक्ता विनोद नारायण झा के मुताबिक भाजपा के कार्यकर्ताओं को इस बात की बिल्कुल परावाह नहीं है कि कौन टीम में है और कौन नहीं.

Tags: Sushil kumar modi

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर