परीक्षा में नकल करने से मना किया तो छात्र ने प्रिंसिपल को जमकर पीटा, थाने पहुंचा मामला

प्रिंसिपल के केबिन में घुसकर उनकी पिटाई करता आरोपी छात्र.
प्रिंसिपल के केबिन में घुसकर उनकी पिटाई करता आरोपी छात्र.

जिले के बरबीघा एसकेआर कॉलेज (SKR Collage) में इग्नू के तहत संचालित बीए की परीक्षा (BA Exam) के दौरान नकल करने से मना करने पर छात्र ने कॉलेज के प्रिंसिपल की पिटाई (Attack on Principal) कर दी. इसके बाद प्रिंसिपल ने छात्र के खिलाफ पुलिस (Police) में शिकायत दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 14, 2020, 7:59 PM IST
  • Share this:
शेखपुरा. जिले के बरबीघा एसकेआर कॉलेज (SKR Collage) में इग्नू के तहत संचालित हो रहे बीए परीक्षा के दौरान कॉलेज के प्रिंसिपल (Principal) को नकल करने से रोकना छात्र को महंगा पड़ गया. नकल करने से मना करने पर छात्र ने प्रिंसिपल पर हमला कर दिया और उनसे मारपीट की. घटना का शिकार हुये प्रिंसिपल नवल प्रसाद ने बताया कि बुधवार को इग्नू (ignou) के पार्ट थर्ड के परीक्षा के दौरान शेरपर ग्राम निवासी श्रवण सिंह का पुत्र अंकित कुमार विक्षक के सामने ही जबरदस्ती किताब खोलकर प्रश्नों का उत्तर लिख रहा था.

कदाचार कर रहे विद्यार्थी को वीक्षक विद्या प्रकाश मौर्य ने जब मना किया तो छात्र ने उनके साथ अभद्रता की. इसकी शिकायत उन्होंने प्रिंसिपल से की. सूचना पाकर प्रिंसिपल नवल प्रसाद परीक्षा हॉल में पहुंचे और उसकी कॉपी को कुछ देर के लिए जब्त कर अपने ऑफिस लेकर चले गए. इससे गुस्साए छात्र अंकित कुमार ने उनके ऑफिस में घुसकर प्रिंसिपल को जातिसूचक शब्दों के साथ गाली-गलौज करते हुए गर्दन दबा कर टेबल पर पटक दिया. इसके बात जमकर लात घुसों की बारिश कर दी. मारपीट की इस पूरी घटना को शिक्षक विद्या प्रसाद मौर्य ने अपने कैमरे में कैद कर दिया. घटना को लेकर प्रिंसिपल के द्वारा स्थानीय थाना में एक प्राथमिकी दी गई है.

Bihar Election: कांग्रेस को वंशवाद पर भरोसा, बेटों-सालों को टिकट दिलाने में जुटे कद्दावर नेता




बताया जा रहा है कि आरोपी छात्र अंकित कुमार झारखंड राज्य में शिक्षक के पद पर कार्यरत है. यही नहीं कई राजनीतिक रसूखदारों से भी उसकी काफी मजबूत सांठगांठ है, जिसके चलते आरोपी छात्र ने प्रिंसिपल की पिटाई की है. छात्र हाल ही में जदयू के कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त हुए अशोक चौधरी का बेहद करीबी माना जाता है. बरबीघा के वर्तमान विधायक सुदर्शन कुमार के साथ भी उसे प्रचार-प्रसार के दौरान कई बार देखा गया है. प्रिंसिपल नबल प्रसाद ने बताया कि राजनीतिक पहुंच के नशे में चूर होकर वह खुलेआम कदाचार कर रहा था, जिससे मना करने पर उसने मारपीट की घटना को अंजाम दिया है. यही नहीं उसने कॉलेज आने पर जान से मारने की भी धमकी दी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज