Assembly Banner 2021

नालंदा मेडिकल कॉलेज के स्टूडेंट की बेगूसराय में कोरोना से मौत, मचा हड़कंप

कोरोना वायरस की चपेट में आने से नालंदा मेडिकल कॉलज के एक स्टूडेंट की मौत हो गई है. (सांकेतिक तस्वीर)

कोरोना वायरस की चपेट में आने से नालंदा मेडिकल कॉलज के एक स्टूडेंट की मौत हो गई है. (सांकेतिक तस्वीर)

नालंदा मेडिकल कॉलेज (Nalanda Medical College) के फाइनल ईयर के स्टूडेंट (Students) शुभेंदु शेखर की बेगूसराय (Begusarai) जिले में कोरोना (Corona) से मौत हो गई. इसके बाद शुभेंदु के संपर्क में आए नालंदा मेडिकल के आठ स्टूडेंट्स को तत्काल अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

  • Share this:
नालंदा. नालंदा मेडिकल कॉलेज (Nalanda Medical College) के फाइनल ईयर के स्टूडेंट शुभेंदु शेखर की बेगूसराय जिले में कोरोना (Corona) से मौत हो गई. वहीं शुभेंदु के संपर्क में आए नालंदा मेडिकल कॉलेज के 8 छात्रों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने पर एनएमसीएच (NMCH) में हड़कंप मच गया है. मामले की गंभीरता को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने पटना सिटी का दौरा कर एनएमसीएच अस्पताल प्रशासन से पूरे मामले की जानकारी ली.

प्रधान सचिव ने मेडिकल छात्र की मौत पर गहरी संवेदना जताते हुए इसे बेहद दुखद घटना करार दिया है. वहीं प्रधान सचिव ने कहा कि शुभेंदु शेखर के संपर्क में आए आठ मेडिकल छात्र जो कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं, उन्हें एनएमसीएच में भर्ती करा दिया गया है. उन्होंने नालंदा मेडिकल कॉलेज के ओल्ड और न्यू हॉस्टल में रहने वाले सभी मेडिकल छात्र-छात्राओं का आज रात तक आरटीपीसीआर जांच करवाने की बात दोहराते हुए अगले 24 घंटे तक मेडिकल कॉलेज में क्लास चलाने पर रोक लगा दी है.

इस अवसर पर प्रधान सचिव का कहना था कि आरटीपीसीआर जांच के बाद कोरोना के स्प्रेड का पता चल जाएगा और इसके बाद ही इस पर ठोस निर्णय लिया जाएगा. उन्होंने बेगूसराय के जिला पदाधिकारी को कोरोना से मौत के शिकार हुए मेडिकल छात्र के परिजनों और उनके संपर्क में आए सभी लोगों की कोरोना जांच कराने का निर्देश जारी किया है.



बढ़ते अपराध पर BJP विधायक ने अपनी ही सरकार को विधानसभा में लपेटा, बोले- अपराधियों पर योगी मॉडल लागू करें
वहीं मेडिकल छात्र के संपर्क में आए सभी लोगों की जांच करवा कर तत्काल उनका इलाज शुरू करने की बात दोहरा. कोरोना वैक्सीन के पहले डोज लिए जाने के बाद भी मेडिकल छात्र की मौत और अन्य मेडिकल छात्रों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के संबंध में पूछे जाने पर प्रधान सचिव ने कहा कि दूसरा डोज लेने के 12 से 14 दिनों के बाद ही शरीर में कोरोना का एंटीबॉडी तैयार होता है.

उन्होंने कोरोना वैक्सीन लिए सभी लोगों से कोरोना संक्रमण को लेकर विशेष एहतियात बरतने की अपील करते हुए उनसे हर हाल में मास्क पहनने, सैनिटाइजेशन करने के साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग अपनाने की अपील की. प्रधान सचिव ने इस दौरान कोरोना का पहला डोज लेने वाले सभी लोगों से हर हाल में कोरोना का दूसरा डोज लिए जाने की अपील की.

बता दें कि नालंदा मेडिकल कॉलेज के फाइनल इयर के छात्र शुभेंदु शेखर सर्दी बुखार की शिकायत होने पर बीते 24 फरवरी को अपनी आरटीपीसीआर जांच के लिए सैंपल दिया था और उसके बाद वे बेगूसराय स्थित अपने गांव चले गए थे. बीते रविवार को उनकी टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई थी. शुभेंदु शेखर होम आइसोलेशन पर थे. बाद में तबियत बिगड़ने पर मेडिकल छात्र को बेगूसराय के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज