सुपौल: BOI के ब्रांच मैनेजर को रिश्वत लेते CBI ने रंगे हाथ दबोचा, जानिए कैसे

कैश क्रेडिट की सीमा बढ़ाने के एवज में शाखा प्रबंधक ने राम नारायण से 50 हजार रुपए की मांग की. राम नारायण ने सीबीआई पटना को फोन कर इसकी शिकायत कर दी.

News18 Bihar
Updated: January 22, 2019, 9:13 PM IST
सुपौल: BOI के ब्रांच मैनेजर को रिश्वत लेते CBI ने रंगे हाथ दबोचा, जानिए कैसे
सुपौल में रिश्वतखोर बैंक मैनेजर पकड़ाया
News18 Bihar
Updated: January 22, 2019, 9:13 PM IST
बिहार में रिश्वतखोरों को पकड़ने का सिलसिला लगातार जारी है. मंगलवार को सुपौल के सिमराही बाजार में बैंक ऑफ इंडिया के ब्रांच मैनेजर अमर कुमार को सीबीआई की टीम ने धर दबोचा. पटना से आई टीम ने रिश्वतखोर को रंगे हाथों 50 हजार रुपये लेते हुए पकड़ा है.

बताया जा रहा है कि शाखा प्रबंधक कैश क्रेडिट की लिमिट बढ़ाने  के एवज में 50 हजार रुपए घूस ले रहा था. दरअसल सिमराही के सुधा दूध का काम करने वाले राम नारायण सिंह बैंक ऑफ इंडिया की सिमराही शाखा से 9 लाख रुपये कैश क्रेडिट लिए हुए हैं. कैश क्रेडिट की सीमा बढ़ाने के एवज में शाखा प्रबंधक ने राम नारायण से 50 हजार रुपये की मांग की. राम नारायण ने सीबीआई पटना को फोन कर इसकी शिकायत कर दी.



ये भी पढ़ें- एविएन एन्फ्लूएंजा के 26 सैम्पल निगेटिव, जल्द ही खोला जा सकता है पटना चिड़ियाघर

इसके बाद सीबीआई की पटना टीम ने मामले की जांच की. जांच में शिकायत सही पाई गई और फिर राम नारायण से सोमवार को लिखित शिकायत मांगी गई. लिखित शिकायत मिलते ही सीबीआई टीम शाखा प्रबंधक को दबोचने की फिराक में लग गई. मंगलवार को सीबीआई की टीम को सफलता मिली और उसे गिरफ्तार कर लिया गया.

दरअसल ब्रांच मैनेजर राम नारायण के सुधा दूध बूथ पर राशि लेने पहुंचा तो सीबीआई की टीम ने उसे दबोच लिया. शाखा प्रबंधक को गिरफ्तार करने के बाद उसे सुपौल स्थित अतिथि गृह लाया गया और कई घंटे तक पूछताछ की. पूछताछ के बाद उसे पटना ले जाया गया.

ये भी पढ़ें-  Analysis: नीतीश ने क्यों कही जातिगत जनगणना की बात, समझिए बिहार का जातीय समीकरण

हालांकि सीबीआई की टीम ने मामले की सारी जानकारी मौखिक तो दी लेकिन पहचान उजागर न हो इसके लिए कैमरे पर आने से बचते रहे. वहीं गिरफ्तार मैनेजर को मीडिया के सामने नहीं लाया गया.
Loading...

सीबीआई टीम में छह लोग थे, जिसमें चार सीबीआई के अधिकारी थे और दो स्वतंत्र साक्षी. सीबीआई टीम द्वारा की गई इस गिरफ्तारी से बैंक में ऋण देने के बदले अवैध वसूली करने वालों में हड़कम्प मच गया है.  जिले में रिश्वतखोरों के पकड़े जाने के तो दर्जनों मामले हैं लेकिन सीबीआई द्वारा पकड़े जाने का यह पहला मामला है.

रिपोर्ट - अमित कुमार झा

ये भी पढ़ें-  राजनीति के बाद अब क्रिकेट के मैदान पर उतरे तेजप्रताप यादव, विरोधियों के छुड़ाए छक्के

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...

News18 चुनाव टूलबार

  • 30
  • 24
  • 60
  • 60
चुनाव टूलबार