CM नीतीश के पुराने फॉर्मूले पर चल रहा बिहार का ये जिला, 140 अपराधियों को मिल चुकी सजा

अपराधियों को जल्द से जल्द सजा दिलाने की तैयारी की गई है. इसके तहत स्पीडी ट्रायल के जरिये महज चंद महीने में ही 140 अपराधियों को सालाखों के पीछे पहुंचा चुकी है.

News18 Bihar
Updated: August 3, 2019, 3:03 PM IST
CM नीतीश के पुराने फॉर्मूले पर चल रहा बिहार का ये जिला, 140 अपराधियों को मिल चुकी सजा
सुपौल जिले के पुलिस अधीक्षक मृत्युंजय चौधरी
News18 Bihar
Updated: August 3, 2019, 3:03 PM IST
अपराध पर नियंत्रण को लेकर सुपौल पुलिस ने नीतीश सरकार के पुराने फार्मूले पर काम शुरू कर दिया है. इसके तहत जिला पुलिस ने अब अपराधियों को सजा दिलाने के लिए एक मुहिम छेड़ रखी है. इस अभियान का परिणाम ये रहा है कि चंद महीने में ही करीब डेढ़ सौ अपराधी सलाखों के पीछे चले गए हैं और अपराध में भी काफी कमी आई है.

सलाखों के पीछे पहुंचे 140 अपराधी
दरअसल अपराधियों को जल्द से जल्द सजा दिलाने की तैयारी की गई है. इसके तहत स्पीडी ट्रायल का सहारा लेकर अब तक महज चंद महीने में ही 140 अपराधियों को सालाखों के पीछे पहुंचा चुकी है. कई और अपराधियों को भी जेल भेजने की कवायद जारी है.

थानों में कोर्ट मुंशी की प्रतिनियुक्ति

इस काम में कोई बाधा न हो और कार्य तेज गति से हो, इसके लिए जिले के सभी थानों में कोर्ट मुंशी की प्रतिनियुक्ति की गई है. इनका काम है कोर्ट से जारी नोटिस को सही समय पर पहुंचाए. ताकि जिन घटनाओं में चार्जशीट दे दी गई है उनमें अपराधियों को जल्द से जल्द सजा दिलायी जा सके.

SP खुद कर रहे मॉनिटरिंग
एसपी मृत्युंजय कुमार चौधरी खुद विभिन्न थानों का निरीक्षण कर उन सारे कांडों के आंकड़े जुटाने की मुहिम को ताकत दे रहे हैं जिसमें अपराधियों ने बड़ी घटनाओं को अंजाम दिया हो. इसको लेकर सुपौल पुलिस ने अभियोजन कोषांग का गठन कर आंकड़ा जुटाने में जुट गया है.
Loading...

अपराध होंगे कम
अभियोजन कोषांग प्रभारी सुदामा सिंह के अनुसार कोषांग सारी जानकारी गवाहों तक मोबाइल या वाट्सएप के जरिये पीड़ित परिवारों तक भेजने का काम करता है. दरअसल पुलिस का मानना है कि अगर अपराधियों को स्पीडी ट्रायल के तहत जल्द से जल्द सजा मिल जाए तो अपराध करने से पहले सौ बार उसकी सजा के बारे में सोचेंगे.

रिपोर्ट- अमित झा

ये भी पढ़ें-  

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सुपौल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 3, 2019, 2:39 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...