होम /न्यूज /बिहार /शराब की सूचना पर देर रात नामी ठेकेदार के घर पहुंची एक्‍साइज टीम, फिर जानें आगे की कहानी

शराब की सूचना पर देर रात नामी ठेकेदार के घर पहुंची एक्‍साइज टीम, फिर जानें आगे की कहानी

Supaul News: सुपौल में उत्‍पाद‍ विभाग की टीम ने एक नामी ठेकेदार के घर छापेमारी की लेकिन वहां से कुछ नहीं मिला. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी)

Supaul News: सुपौल में उत्‍पाद‍ विभाग की टीम ने एक नामी ठेकेदार के घर छापेमारी की लेकिन वहां से कुछ नहीं मिला. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी)

Excise Department Team: शराब की गुप्‍त सूचना पर उत्‍पाद विभाग और पुलिस की टीम एक नामी ठेकेदार के घर छापेमारी करने पहुंच ...अधिक पढ़ें

सुपौल. बिहार में शराबबंदी कानून को पूरी सख्‍ती से लागू कराने का प्रयास लगातार किया जा रहा है. इसी क्रम में कई मामले ऐसे सामने आए हैं, जिसमें उत्‍पाद विभाग और पुलिस की टीम छापेमारी करने पहुंच गई और मौके पर विषम हालात पैदा हो चुके हैं. अब एक ऐसा ही मामला प्रदेश के सुपौल जिले में सामने आया है. शराब होने की सूचना पर उत्‍पाद विभाग की टीम देर रात दलबल के साथ ठेकेदार के घर आ धमकी और छानबीन करने लगी. टीम को ठेकेदार के घर से कुछ भी नहीं मिला. बताया जाता है कि यह दूसरा मौका है जब इस ठेकेदार के घर पर छापा मारा गया और दोनों ही बार छापा मारने वाली टीम को कुछ नहीं मिला. इस बार मामले ने तूल पकड़ लिया है. इसके साथ ही उत्‍पाद विभाग को मिली गुप्‍त सूचना पर भी सवाल उठने लगे हैं.

बिहार में जारी शराबबंदी के बीच झूठी सूचना पर पुलिस और उत्पाद टीम के छापा मारने के लिए जाने से रोज कहीं न कहीं हंगामा हो रहा है. हालत यह है कि दुल्हन के कमरे तक जाने से छापामार टीम ने परहेज नहीं किया था. ताजा मामला सुपौल जिले के बसबिट्टी गांव से जुड़ा है, जहां जिले के प्रतिष्ठित ठेकेदारों में से एक जयंत कुमार के घर किसी की झूठी सूचना पर उत्पाद विभाग की टीम लाप-लश्कर के साथ पहुंच गई. हालांकि, उत्पाद विभाग की टीम को उनके घर से शराब का एक ढक्कन तक नहीं. देर रात उत्पाद विभाग की टीम ने ठेकेदार के पूरे घरवालों घंटों परेशान किया.

शराबबंदी वाले Bihar में शराब खपाने का नया ‘हथकंडा’, कहीं कार, कहीं एंबुलेस ब न रहे तहखाने

टकराव की स्थिति
उत्पाद विभाग की कार्रवाई से नाखुश ठेकेदार के परिजनों और छापामार टीम के बीच तू तू-मैं मै भी हुई. इस तरह की घटना उनके साथ दूसरी बार हुई है. कुछ दिन पहले भी पटना कंट्रोल रूम को किसी ने झूठी सूचना दी और पूरी टीम वहां पहुंच गई थी. दोनों बार उत्‍पाद विभाग की टीम को कुछ नहीं मिला. इसके बाद लोगों ने उत्पाद अधीक्षक को जमकर लताड़ा. वहीं, उत्पाद अधीक्षक सूचना का हवाला देते रहे. इस बार यह जांच का मामला अब तूल पकड़ने लगा है.

स्‍थानीय लोगों में नाराजगी
स्थानीय लोगों में उत्‍पाद विभाग की इस कार्रवाई को लेकर बेहद नाराजगी है. लोगों का कहना है कि यह दूसरी बार है जब उत्पाद विभाग की टीम इस तरह की सूचना पर घर और आ धमकी. उत्पाद विभाग की टीम में शामिल उत्पाद अधीक्षक लाला अजय सुमन हेडक्वार्टर से मिल रही सूचनाओं का हवाला देकर लोगों को शांत करते दिखे.

क्‍या कहते हैं अधिकारी
उत्पाद अधीक्षक लाला अजय सुमन ने बताया कि टीम को बसबिट्टी गांव के रहने वाले जयंत कुमार पिता बलराम सिंह के घर शराब होने की सूचना किसी ने दी थी. इसके बाद उत्‍पाद विभाग की टीम वहां पहुंची थी. उन्होंने कहा कि उत्पाद विभाग की मंशा किसी को परेशान करना नहीं, बल्कि समाज को नशा मुक्त करने की है. इसमें जनता का सहयोग भी आपेक्षित है.

Tags: Bihar Liquor Smuggling, Liquor Ban

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें