तीस बरस बाद हुई इस मशूहर बॉलीवुड गायक की 'घरवापसी'

हिंदी फिल्मों के मशहूर प्लेबैक सिंगर उदित नारायण करीबन तीस वर्ष बाद अपनी जन्मस्थली पर पहुंचे.

News18Hindi
Updated: February 27, 2018, 9:32 PM IST
News18Hindi
Updated: February 27, 2018, 9:32 PM IST
हिंदी फिल्मों के मशहूर प्लेबैक सिंगर उदित नारायण करीबन तीस वर्ष बाद अपनी जन्मस्थली पर पहुंचे. बिहार के सुपौल क्षेत्र का बायसी गोठ वो जगह है, जहां उदित नारायण का एक मैथिल ब्राह्मण 'झा' परिवार में जन्म हुआ था.

उदित, दरअसल अपनी जन्मस्थली एक यज्ञ के समापन कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे थे.अपनी इस घरवापसी उदित काफी भावुक दिखाई दिए. खासकर जब वहां मौजूद पत्रकारों को उन्होंने अपने उस घास फूस के घर को दिखाया तो उनकी आंखे नम हो गई. इसके बाद उन्होंने अपनी जन्मभूमि को सबके सामने नमन किया और इस जगह की मिट्टी के टुकड़े को अपने साथ बांध लिया. यही नहीं वहां मौजूद परिजन के हाथों को भी वह देर तक अपने हाथ से पकड़े रहे.

उदित एक सप्ताह से गांव में चल रहे यज्ञ के अंतिम दिन पूजा अर्चना करने आए थे. वर्षों बाद घर आए इस मशहूर गायक से वहां मौजूद परिजन और ग्रामीणों ने यज्ञ स्थल के मंच से गीत गाने आग्रह किया. उदित ने भी इस आग्रह को टाला नहीं और उन्होंने ख़ुशी से झूमते हुए अपने कई प्रसिद्ध हिंदी ,मैथिली ,भोजपुरी गीत गाए.

उदित ने अपने गीतों की शुरूआत फिल्म तेरे नाम ​के टाइटल गीत से की. उदित के गीतों पर इलाके के लोग खूब झूमते दिखे. बायसी गोठ उदित नारायण झा का ननिहाल है.



सूत्रों के अनुसार उदित इस क्षेत्र में अपनी प्रसिद्धी को लेकर काफी भावुक दिखाई दिए तो जनता भी उनकी एक झलक पाने के लिए खासी बेताब दिखाई दी. वह इस इलाके में अपना राजनीतिक भविष्य तलाश सकते हैं.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर