लाइव टीवी

इलाज के अभाव में प्रसूता की तड़प-तड़प कर मौत, अस्पताल के एंबुलेंस में नहीं था पेट्रोल
Supaul News in Hindi

Amit kumar jha | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: January 28, 2018, 5:54 PM IST
इलाज के अभाव में प्रसूता की तड़प-तड़प कर मौत, अस्पताल के एंबुलेंस में नहीं था पेट्रोल
मृतका की बच्ची

घटना बीते 25 जनवरी की देर रात की है. छातापुर के राजेश्वरी पश्चमी पंचायत की 23 वर्षीय महिला बेबी पाठक को प्रसव पीड़ा के कारण छातापुर पीएचसी मे भर्ती कराया गया था.

  • Share this:
सुपौल जिले के छातापुर पीएचसी में डॉक्टरों की लापरवाही के कारण प्रसव के दौरान एक महिला की मौत हो गयी. जानकारी के मुताबिक इलाज के लिये तेल के अभाव का बहाना बना कर प्रसूता को घंटों एम्बुलेंस नहीं दिया गया जिसकी वजह से बच्ची को जन्म देते ही महिला चल बसी.

घटना बीते 25 जनवरी की देर रात की है. छातापुर के राजेश्वरी पश्चमी पंचायत की 23 वर्षीय महिला बेबी पाठक को प्रसव पीड़ा के कारण छातापुर पीएचसी मे भर्ती कराया गया था. भर्ती के समय से ही प्रसूता की बेचैनी बनी हुई थी इसके बाद भी परिजनों के कहने पर भी पीएचसी में मौजूद लोगों ने परिजनों को झुठलाया कि प्रसूता की स्थिति ठीक है उसे किसी प्रकार की परेशानी नहीं होंगी.

महिला की स्थिति को भांपते हुए परिजनों ने ठीक से इलाज करने की बात कही बाबजूद प्रसूता को पीएचसी से सिर्फ पानी उपलब्ध कराया गया. इस बीच ऑपरेशन कर महिला काा प्रसव तो करा दिया गया लेकिन प्रसव के तुरंत बाद ही प्रसूता महिला की हालत बिगड़ गई. उसकी हालत को बिगड़ता देख डॉक्टरों ने रात को ही उसे रेफर किया, लेकिन एम्बुंलेंस नही मिलने की वजह से उसकी मौत हो गयी.

एम्बुलेस वालों ने कहा कि गाड़ी में तेल नहीं है जिसकी वजह से एम्बुलेंस नहीं जा पायेगी. लापरवाही से हुई मौत के बाद इलाके मे तनाव का माहौल है और लोग जल्द ही कार्रवाई की मांग पर अड़े हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सुपौल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 28, 2018, 5:51 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर