होम /न्यूज /बिहार /सुपौल: छात्रों को बिठा कर बस चला रहा था शराबी ड्राइवर, कोर्ट ने लगाया 50 हज़ार जुर्माना

सुपौल: छात्रों को बिठा कर बस चला रहा था शराबी ड्राइवर, कोर्ट ने लगाया 50 हज़ार जुर्माना

दरभंगा जिले के रहने वाले श्रवण यादव को जिला अदालत ने शराब पीकर छात्रों को ले जा रही बस चलाने का दोषी मानते हुए जुर्माना देने की सजा सुनाई है

दरभंगा जिले के रहने वाले श्रवण यादव को जिला अदालत ने शराब पीकर छात्रों को ले जा रही बस चलाने का दोषी मानते हुए जुर्माना देने की सजा सुनाई है

Bihar News: सुपौल जिला कोर्ट में एडीजे 5 विशेष न्यायधीश उत्पाद कमलेश चंद्र मिश्रा ने शराब पीकर बस चलाने के मामले में ड् ...अधिक पढ़ें

सुपौल. बिहार में शराब पर पूर्ण प्रतिबंध लागू (Liquor Ban In Bihar) होने के बावजूद लोग शराब पीने से बाज नहीं आ रहे हैं. सुपौल (Supaul) में शराब पीकर बस चलाने के मामले में कोर्ट ने चालक (Driver) को सजा सुनाई है. जिला कोर्ट में एडीजे 5 विशेष न्यायधीश उत्पाद कमलेश चंद्र मिश्रा ने शराब पीकर बस चलाने के मामले में ड्राइवर को दोषी मानते हुए उस पर 50,000 रुपये का जुर्माना (Fine) लगाया है. जुर्माना नहीं देने की स्थिति में बस चालक श्रवण यादव को तीन माह की अतिरिक्त सजा का फैसला सुनाया गया है.

राजकीय मध्य विद्यालय दरजिया उर्दू के प्रधानाध्यापक (प्रिंसिपल) मोहम्मद नौशाद ने लिखित आवेदन में कहा कि मधुबनी जिले के मधेपुर थाना क्षेत्र में स्थित राजकीय मध्य विद्यालय दरजिया उर्दू से एक सितंबर, 2018 को मुख्यमंत्री परिभर्मन योजना के तहत छात्रों को कोसी बैराज का भ्रमण कराने लाया गया था. बैराज ले जाए जाने के दौरान चालक श्रवण यादव ने शराब पी रखी थी जिसके कारण रास्ते में दो बार बस दुर्घटनागस्त होने से बची. इसके बाद कस्टम चेक पोस्ट पहुचंने पर चेकिंग के दौरान पुलिस की जांच में बस के ड्राइवर के द्वारा शराब पीने की पुष्टि हुई. इसके बाद बस में सवार सभी बच्चों को सुरक्षित उतारा गया.

नौशाद ने कहा कि पुलिस ने बस चालक को गिरफ्तार कर लिया था. इसके बाद तीन साल बाद सोमवार को सुपौल कोर्ट एडीजे 5 विशेष न्यायधीश उत्पाद कमलेश चंद्र मिश्रा ने श्रवण यादव को दोषी करार देते हुए यह फैसला सुनाया है. सुपौल के पुलिस अधीक्षक (एसपी) डी अमर्केश ने मीडिया को विज्ञप्ति के माध्यम से सजा सुनाए जाने की जानकारी दी.

Tags: Big action on drinking alcohol, Bihar News in hindi, Liquor Ban, Supaul News

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें