लाइव टीवी

अब जमीन पर उतरी नीतीश-कुशवाहा की 'नीच' राजनीति, RLSP कार्यकर्ताओं ने सीएम का पुतला फूंका

News18 Bihar
Updated: November 8, 2018, 7:19 PM IST
अब जमीन पर उतरी नीतीश-कुशवाहा की 'नीच' राजनीति, RLSP कार्यकर्ताओं ने सीएम का पुतला फूंका
सीएम नीतीश कुमार का पुतला फूंकते RLSP कार्यकर्ता

विरोध प्रदर्शन करने वाले कार्यकर्ताओं का कहना है कि मुख्यमंत्री के बयान से पूरा कुशवाहा समाज आहत है. पार्टी नेताओं का कहना है कि नीतीश कुमार ने उपेन्द्र कुशवाहा को ‘नीच’ कहा है जिसके लिए उन्हें माफी मांगनी चाहिए. कार्यकर्ताओं ने चेतावनी दी है कि अगर ऐसा नहीं हुआ तो सड़क से लेकर संसद तक विरोध किया जाएगा.

  • Share this:
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की केन्द्रीय मंत्री उपेन्द्र कुशवाहा के बीच जुबानी तकरार की कड़वाहट जमीनी स्तर पर पर भी नजर आ रही है. इसकी एक बानगी सुपौल में तब दिखी जब कुशवाहा समाज और आरएलएसपी के नेताओं ने सीएम का पुतला फूंका. शहर के स्टेशन चौक पर पार्टी कार्यकर्ताओं ने सीएम के विरोध मे नारेबाजी की और  सीएम से उनके बयान के लिए मांफी मांगने की मांग की.

ये भी पढ़ें -  कुशवाहा का नीतीश पर हमला- PM को बाल और नाखून भेजने वाले मुझे 'नीच' कह रहे हैं

विरोध प्रदर्शन करने वाले कार्यकर्ताओं का कहना है कि मुख्यमंत्री के बयान से पूरा कुशवाहा समाज आहत है. आरएलएसपी के जिलाध्यक्ष धर्मपाल कुमार और पप्पू पटेल समेत कई नेताओं का कहना है कि नीतीश कुमार ने उपेन्द्र कुशवाहा को ‘नीच’ कहा है जिसके लिए उन्हें माफी मांगनी चाहिए. कार्यकर्ताओं ने चेतावनी दी है  कि अगर ऐसा नहीं हुआ तो सड़क से लेकर संसद तक विरोध किया जाएगा.

दरअसल हाल में ही केन्द्रीय मंत्री ने दावा किया कि नीतीश कुमार उन्हें 'नीच' बताया है. कुशवाहा ने कहा कि पीएम मोदी के भाषण पर राज्य भर से बाल और नाखून भेजने वाले खुद दूसरे को 'नीच' कह रहे हैं, इसलिए वे अपना डीएनए रिपोर्ट दिखाएं.

ये भी पढ़ें- बिहार में बहुत जल्द ही टूट जाएगा NDA: कांग्रेस नेता प्रेमचन्द मिश्रा

दरअसल बीते शनिवार को उपेंद्र कुशवाहा पर पूछे गए सवाल पर नीतीश कुमार ने कहा था  कि कुशवाहा 'सवाल जवाब का स्तर नीचे ले जा रहे हैं'. एनडीए का हिस्सा होने के बाद भी आरएलएसपी और जेडीयू के शीर्ष नेताओं की यह तकरार लोगों के लिए चर्चा का विषय है.

बिहार की राजनीति के दोनों दिग्गज एक दूसरे पर जुबानी तीर चलाते रहते हैं. 31 अक्टूबर को उपेन्द्र कुशवाहा ने दावा किया था कि नीतीश कुमार खुद मुख्यमंत्री पद छोड़ना चाहते हैं. उन्होंने कहा था कि नीतीश जी ने मुझसे खुद कहा कि अब 15 साल मुख्यमंत्री रहते हो गए अब खुद नहीं चाहते कि मुख्यमंत्री बनें. ये बयान देकर केंद्रीय मंत्री ने इशारों ही इशारों सीएम पद की दावेदारी ठोक दी थी. हालांकि इस बात पर जदयू ने काफी तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि अगले 15-20 वर्षों तक नीतीश कुमार सीएम बने रहेंगे.
Loading...

ये भी पढ़ें- VIDEO: उपेंद्र कुशवाहा की ये कैसी सियासत

आपको बता दें कि हाल में ही कुशवाहा ने यह भी कहा था कि मंच से नारा लगाने से कुछ नहीं होता. समय आने पर बिहार की जनता तय करेगी कि प्रदेश का मुख्यमंत्री कौन होगा. इसके लिए मेहनत करनी पड़ती है और जनता के सुख-दुख में शामिल होना पड़ता है. दरअसल एनडीए में शीट शेयरिंग को लेकर भी बड़ा पेंच फंसा हुआ है. माना जा रहा है कि उपेन्द्र कुशवाहा का ये बयान अधिक से अधिक सीटों की दावेदारी को लेकर भी दिया गया है.

ये भी पढ़ें - क्या उपेन्द्र कुशवाहा BJP का हाथ झटककर शहीद बनने की कोशिश में हैं?

(रिपोर्ट- अमित कुमार झा)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सुपौल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 8, 2018, 7:14 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...