दिल्ली से खरीदकर लाया था सेकेंड हैंड कार, पुलिस ने चोरी के आरोप में भेजा जेल

पीड़ित युवक का नाम आकाश कुमार है. उसने दिल्ली में अपने पड़ोसी मित्र सुनील जोशी से कार खरीदी थी.

News18 Bihar
Updated: December 16, 2018, 11:02 AM IST
दिल्ली से खरीदकर लाया था सेकेंड हैंड कार, पुलिस ने चोरी के आरोप में भेजा जेल
पीड़ित लड़का
News18 Bihar
Updated: December 16, 2018, 11:02 AM IST
बिहार पुलिस का चौकाने वाला एक नया चेहरा सामने आया है. पुलिस ने एक युवक की कार को जबरन जब्त कर लिया. विरोध करने पर उल्टी उसे ही कार चोरी के आरोप में गिरफ्तार कर लिया. कार के बदले एक लाख रुपए नहीं देने पर पुलिस ने उसे जेल भेज दिया.

जानकारी के मुताबिक, मामला सुपौल जिले के पिपरा थाना इलाके का है, जहां एक युवक ने दिल्ली से कार खरीद कर लाया था. पिपरा थाना पुलिस ने युवक से जबरन गाड़ी कब्जे में ले लिया. इसके बाद गाड़ी छोड़ने के एवज में एक लाख रुपए की मांग करने लगा. जब युवक ने रुपए देने से इनकार कर दिया तो उसे चोरी के इल्जाम में जेल भेज दिया. तीन दिन जेल में गुजारने के बाड पीड़ित युवक ने मानवाधिकार का दरवाजा खटखटाया.



कहा जा रहा है कि पीड़ित युवक का नाम आकाश कुमार है. उसने दिल्ली में अपने पड़ोसी मित्र सुनील जोशी से कार खरीदी थी, जिसे पुलिस ने जबरन अपने कब्जे में ले लिया. आकाश का कहना है कि वह अपने पैतृक गांव थुम्हा बाजार आया था, जहां से वह बगल के गांव लिटियाही में एक शादी समारोह में गया. इसी दौरान बीते 7 दिसंबर को उसको पिपरा पुलिस ने कार की चोरी के आरोप में पकड़ लिया और जेल भेज दिया.

ये भी पढ़ें- पुआल के ढेर में लगी आग से झुलस कर तीन बच्चों की दर्दनाक मौत, रात को सोते वक्त हुआ हादसा

आकाश का कहना है कि पिपरा थाना के थानेदार ने उससे गाड़ी छोड़ने के एवज में एक लाख रूपये की मांग की थी. जब वह तैयार नहीं हुआ तो उसे जेल में भेज दिया. जब पुलिस कप्तान मृत्युंजय कुमार चौधरी से इस बाबत पूछ गया तो उन्होंने सुपौल एसडीपीओ से पूरे मामले की जांच करवाने की बात कही. उन्होंने कहा कि जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ शख्त कार्रवाई की जाएगी.

ये भी पढ़ें- बिहार के सबसे बड़े अस्पताल में भोजन के लिए लगी रहती है लाइन, पढ़िये क्या है माजरा

रिपोर्ट- अभिषेक मिश्रा
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

News18 चुनाव टूलबार

चुनाव टूलबार