लाइव टीवी

लंबित मामलों को निपटना हमारी प्राथमिक्ता में शामिल : सुपौल एसपी

Amit kumar jha | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: February 10, 2018, 1:41 PM IST
लंबित मामलों को निपटना हमारी प्राथमिक्ता में शामिल : सुपौल एसपी
ETV Image

लंबित कांडों में हत्या, बलात्कार जैसे संगीन मामले शामिल हैं.

  • Share this:
सुपौल के विभिन्न थानों मे न्याय की आस में अब तक लगभग एक हजार छह सौ लोग भटक रहे हैं. इन्हें अभी तक कोई न्याय नहीं मिल सका है. दरअसल लगभग एक हजार छह सौ कांडो में पुलिस की रिपोर्ट अभी तक लंबित है. इसका फायदा उन लोगों को मिल जाता है जो इस घटना के मुख्य आरोपी होते हैं. खासकर संगीन अपराघों मे शामिल अपराघी इसका खूब फायदा उठा रहे हैं.

इतना ही नहीं इसकी आड़ में ये दुसरी नई वारदातों को अंजाम देते हैं. वहीं पीड़ित न्याय की आस लगाए भटकते रहते हैं.

फिलहाल लंबित कांडो की संख्या भी चिंता का विषय है. इन लंबित कांडों में हत्या, बलात्कार जैसे संगीन मामले भी जुड़े हैं. नव पदस्थापित एसपी मृत्युंजय चौघरी से पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि इसे निपटाना हमारी प्राथमिकता में शामिल है, जिससे पीड़ितों को जल्द से जल्द न्याय दिलाया जा सके.

वहीं उन्होने कहा कि शराबबंदी और लूट की घटना को विराम लगाने के लिए लगातार वाहन चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है. जिसका अब फायदा भी दिखने लगा है. इससे शराब की तस्करी पर विराम तो लगा ही है साथ ही लोग अब सजग होकर बाइक पर हेलमेट का भी इस्तेमाल करने लगे हैं.

दरअसल सुपौल एसपी की इस पहल से जहां से अब तक करीब छह लाख रुपये का राजस्व का लाभ हुआ है वहीं, बीते कुछ सप्ताह से लूट की घटना पर भी विराम लगा है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सुपौल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 10, 2018, 1:41 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर