शराब सप्लाई के लिए लड़कियों का सहारा ले रहे तस्कर, दिल्ली से खेप लाने की कीमत दो हजार रुपए

गाड़ी ड्राइवर ने बताया कि एक बार शराब की खेप पहुंचाने पर उसे 5 हजार रुपया मिलता है वहीं लड़कियों को भी 2 हजार से 5 हजार रुपया दिया जाता है.

News18 Bihar
Updated: January 22, 2019, 12:38 PM IST
शराब सप्लाई के लिए लड़कियों का सहारा ले रहे तस्कर, दिल्ली से खेप लाने की कीमत दो हजार रुपए
मामले की जानकारी देते एसपी
News18 Bihar
Updated: January 22, 2019, 12:38 PM IST
सुपौल पुलिस ने शराब तस्करी के एक ऐसे गिरोह का पर्दाफाश किया है जिसके बारे में न तो पुलिस सोच सकती थी और न ही कोई आम इंसान. दरअसल शराब की तस्करी में लगे इस रैकेट में लड़कियों का इस्तेमाल हनी ट्रैप की तरह किया जा रहा था. सुपौल के सदर थाना पुलिस के थानेदार राजेश मंडल के नेतृत्व में देर रात पुलिस ने एक चमचमाती टोयटा कार से 90 लीटर विदेशी शराब बरामद किया है.

इस दौरान पुलिस ने तस्करी में शामिल दो लड़कियों को भी ड्राइवर औऱ उसके एक सहयोगी के साथ गिरफ्तार किया. पुलिस की पूछताछ में तस्करों ने जो खुलासा किया है वो चौंकाने वाले हैं. गिरफ्तार लड़कियों में एक दरभंगा की रहने वाली है तो दूसरी बांका जिला की जो दिल्ली में रहकर काम करती है.



ये भी पढ़ें- जिंदा महिला को चिता पर लिटा कर जलाने की थी तैयारी, पुलिस की तत्परता से बची जान

पुलिस के मुताबिक दिल्ली से तस्कर उन्हें दो हजार से पांच हजार रुपये देकर शराब से भरी कार के साथ गंतव्य स्थान तक भेजते हैं जहां शराब की खेप उतारने के बाद ये फिर उसी कार से दिल्ली लौट जाती हैं. पुलिस को शक न हो इसके लिए शराब तस्करी का जिम्मा लड़कियों को दिया जाता था. गाड़ी ड्राइवर ने बताया कि एक बार शराब की खेप पहुंचाने पर उसे 5 हजार रुपया मिलता है वहीं लड़कियों को भी 2 हजार से 5 हजार रुपया दिया जाता है.

पुलिस की गिरफ्त में आई लड़कियों ने भी ये बात स्वीकार की है कि उन्हें शराब की खेप पहुंचाने पर पैसा मिलता था. एसपी मृत्युंजय चौधरी ने बताया कि गिरफ्तार लड़कियां दो हजार रुपए में शराब लेकर ड्राइवर के साथ दिल्ली से सुपौल आयी थीं जहां शराब की डिलीवरी की जानी थी लेकिन पुलिस की तत्परता से इसे गिरफ्तार कर लिया गया है.

रिपोर्ट- अमित कुमार झा
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...

News18 चुनाव टूलबार

  • 30
  • 24
  • 60
  • 60
चुनाव टूलबार