लाइव टीवी

VIDEO : रेप के बाद मां बनी नाबालिग की कानून और ममता से जंग

News18 Bihar
Updated: October 5, 2018, 7:34 AM IST

मामले में दखल दिया सुपौल महिला थाने की प्रभारी प्रेम लता ने. उन्होंने चाइल्ड वेलफेयर कमेटी से बात की और बताया कि अदालत के आदेश के मुताबिक ही कोई कदम उठाया जा सकता है और तब तक रेप पीड़िता के पास ही बच्ची रहेगी.

  • Share this:
सुपौल में बलात्कार की शिकार हुई एक 13 साल की लड़की ने बच्ची को जन्म दिया है. जन्म देते ही बाल संरक्षण इकाई के अधिकारियों ने बच्ची की बेहतर परवरिश के लिए सरकारी संरक्षण में देने को कहा लेकिन मां का दिल नहीं माना. रेप के बाद गांव में शर्मिंदगी की जिंदगी जी रही पीड़िता ने बच्ची को अपने साथ रखने की जिद की. उसके घर वालों ने भी साथ दिया और आखिरकार उसकी जीत हुई.

मामले में दखल दिया सुपौल महिला थाने की प्रभारी प्रेम लता ने. उन्होंने चाइल्ड वेलफेयर कमेटी से बात की और बताया कि अदालत के आदेश के मुताबिक ही कोई कदम उठाया जा सकता है और तब तक रेप पीड़िता के पास ही बच्ची रहेगी.

रेप का आरोपी जेल में हैं. पिछले साल आरोपी ने लड़की के साथ कई दिनों तक रेप किया जिससे वो गर्भवती हो गई और इसका पता पांच महीने बाद चला. कानून के मुताबिक 20 हफ्ते से ज्यादा का गर्भ होने पर गर्भपात की इजाजत नहीं दी जा सकती बशर्ते मां की जिंदगी पर कोई खतरा न हो.

बाल संरक्षण इकाई की दलील थी कि पीड़िता की मानसिक और शारीरिक स्थिति को देखते हुए वे बच्ची को अपने पास रखना चाहते हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सुपौल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 5, 2018, 7:34 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...