रेलवे के गड्ढे में गिरकर तड़प रही थी बच्ची, 4 घंटे की मशक्कत के बाद ग्रामीणों ने निकाला बाहर
Supaul News in Hindi

रेलवे के गड्ढे में गिरकर तड़प रही थी बच्ची, 4 घंटे की मशक्कत के बाद ग्रामीणों ने निकाला बाहर
ग्रामीणों ने ढलाई तोड़कर बच्ची को बाहर निकाला

सुपौल में बकरी चराने गई एक बच्ची रेलवे (Railway) के पतले गड्ढे में गिरकर फंस गई. इस दौरान उसकी जान पर बन आई. हालांकि ग्रामीणों (Villagers) ने 4 घंटे के प्रयास के बाद उसे सुरक्षित निकाल लिया.

  • Share this:
सुपौल. बिहार के सुपौल में रेलवे (Railway) की जानलेवा लापरवाही का मामला सामने आया. भपटियाही में पीपरा खुर्द के समीप बकरी चराने गई एक बच्ची रेलवे के द्वारा खोदे गए गड्ढे में गिर गयी. बच्ची गड्ढे में बुरी तरह फंस गई और बाहर निकल नहीं पा रही थी. जिसके बाद उसके साथ की लड़कियों ने गांववालों (Villagers) को इस बात की जानकारी दी. गांववालों ने 4 घंटे की मशक्कत के बाद बच्ची को गड्ढे से सुरक्षित बाहर निकाला.

आमान परिवर्तन का चल रहा काम

दरअसल इस इलाके में रेलवे का युद्धस्तर पर आमान परिवर्तन का काम चल रहा है. सरायगढ़ भपटियाही से निर्मली रेल लाइन को इसी माह चालू कर कोसी नदी पर बने पुल के उद्घाटन की योजना है. इसको लेकर रेलवे की ओर से बिजली कनेक्शन के लिए जगह-जगह गड्ढा खोदकर इसे पक्के करने का काम किया जा रहा है. इसी तरह के एक गड्ढे में पीपरा खुर्द वार्ड-2 की रहने वाली बच्ची चंद्रकला गिरकर फंस गई.



बच्ची की हालत स्थिर 
हालांकि गनीमत रही कि उसके साथ बकरी चराने गयी अन्य बच्चियों ने तत्काल इसकी सूचना गांववालों को दे दी. जिसके बाद छेनी और हथोड़ी से ढलाई को तोड़कर 4 घन्टे बाद बच्ची को निकाल गया. बच्ची को सरायगढ़ अस्पताल में भर्ती कराया गया है. जहां उसकी हालत स्थिर है.

पुलिस की सराहनीय पहल

इस मामले में भपटियाही पुलिस की भूमिका सराहनीय रही. घटना की सूचना मिलते ही स्थानीय पुलिस मौके पर पहुंचकर बच्ची को निकालने के प्रयास में जुट गई. पुलिस के द्वारा बच्ची को गड्ढे के अंदर जूस और पानी भी दिया गया. गड्ढा पतला होने के चलते बच्ची उसमें फंसकर तड़प रही थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज