लाइव टीवी

तेजस्वी पर सुशील मोदी का करारा वार, कहा- चारा घोटाले वाले के लिए कौन सा शब्द प्रयोग करेंगे तेजस्वी

News18Hindi
Updated: January 14, 2020, 11:07 PM IST
तेजस्वी पर सुशील मोदी का करारा वार, कहा- चारा घोटाले वाले के लिए कौन सा शब्द प्रयोग करेंगे तेजस्वी
सुशील मोदी ने कहा- तेजस्वी की संविधान बचाओ यात्रा नौटंकी है. (फाइल फोटो)

मुख्यमंत्री नीतीश (CM Nitish Kumar) को तेजस्वी ने धोखेबाज कहा था, जिसका जवाब देते हुए अब सुशील मोदी ने कहा- रस्सी को सांप बताकर डरा रहा है विपक्ष.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 14, 2020, 11:07 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार में जहां एक तरफ विधानसभा चुनावों को लेकर राजनीतिक पार्टियां एक दूसरे पर हमला बोल रही हैं, वहीं CAA का मुद्दा भी इन दिनों सूबे के राजनीतिक गलियारों को गर्माए हुए है. राजद के नेता तेजस्वी यादव की ओर से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को धोखेबाज कहे जाने के बाद अब डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने उनको आड़े हाथ लिया है. नीतीश ने तेजस्वी पर तंज कसते हुए पूछा कि क्या राजद के युवराज यह बताएंगे कि चारा घोटाला, अलकतरा घोटाला और बीएड घोटाला जिस मुख्यमंत्री के कार्यकाल के दौरान हुआ उसके बारे में वे कौन से शब्द का प्रयोग करेंगे. क्या घोटाले और भ्रष्टाचार से बिहार को खोखला बनाना ही राजद की विचारधारा का हिस्सा है.

नौटंकी करते हैं युवराज
सुशील मोदी ने राजद की ओर से संविधान बचाओ यात्रा को नौटंकी करार देते हुए कहा कि जब सीएम नीतीश कुमार जैसे संवैधानिक पद पर बैठे व्यक्ति के लिए नीतीश धोखेबाज जैसे शब्द का प्रयोग करते हैं तो किस बात की संविधान बचाओ यात्रा. इसके साथ ही उन्होने

रस्सी को सांप बताकर डरा रहे

मोदी ने कहा कि संशोधित नागरिकता कानून को लेकर एनडीए एकजुट है. इसको लेकर खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सीएम नीतीश ने लोगों का भ्रम दूर कर दिया है. इसके बावजूद समुदाय विशेष की राजनीति करने के लिए ये लोग रस्सी को सांप बताकर लोगों को डरा रहे हैं. उन्होंने कहा कि जो कानून पास के देशों से आए पीड़ित शरणार्थियों को नागरिकता देने के लिए बना है उसे देश के किसी समुदाय के खिलाफ साबित करना सबसे बड़ा झूठ है.

ये कैसा लोकतांत्रिक तरीका
सुशील मोदी ने कहा कि महागठबंधन और वामदलों ने दिसंबर में दो बार बंद करवाकर सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाया है. ये असहमति प्रकट करने का कैसा लोकतांत्रिक तरीका था. इसके साथ ही एनआरसी के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि जब पीएम और देश के गृहमंत्री अमित शाद खुद कह चुके हैं कि अभी एनआरसी पर कोई चर्चा नहीं हुई है, फिर भी विपक्ष का एक खास वर्ग लोगों को उकसाने का काम क्यों कर रहा है. एनआरसी और एनपीआर दो अलग चीज है. कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में पी.चिदंबरम ने गृह मंत्री रहते एनपीआर बनाने का काम शुरू किया था. साथ ही कहा था कि इसके बाद एनआरसी बनाने का काम शुरू होगा. लेकिन हमारी सरकार में फिलहाल एनआरसी बनाने की कोई चर्चा नही हुई है. इसलिए इसके विरोध का कोई मतलब ही नही निकलता. सिर्फ वोटबैंक की खातिर विपक्ष न सिर्फ लोगो को बरगला रहा है बल्कि देश को हिंसा के आग में भी झोकने की कोशिश कर रहा है.

ये भी पढ़ेंः दिल्ली चुनाव लड़ेगी RJD, कांग्रेस से हो सकता है गठबंधन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 14, 2020, 11:07 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर