बिहार: बीजेपी MLA अशोक सिंह ने अपनी ही पार्टी के मंत्री रामसूरत राय को घेरा

बिहार विधानसभा में आज रामसूरत राय से विपक्ष ने इस्तीफे की मांग को लेकर हंगामा किया.

मुजफ्फरपुर (Muzaffarpur) की स्कूल में साइकिल रेस के फंक्शन में पारू से बीजेपी के विधायक (BJP MLA) अशोक सिंह ने अपनी ही पार्टी के मंत्री रामसूरत राय को घेरा है. उन्होंने कहा कि सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) आरोप सही निकलने पर दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेंगे.

  • Share this:
    पटना. बिहार विधानसभा (Bihar Assembly) में आज दिन भर मंत्री रामसूरत राय (Ram surat Rai) के भाई के स्कूल में शराब मिलने का मद्दा छाया रहा. विपक्ष ने इसके आधार पर मंत्री रामसूरत राय से इस्तीफे की मांग की. साथ ही आरोप लगाया है कि सरकार उनके खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रही है. वहीं मुजफ्फरपुर (Muzaffarpur) के पारू से बीजेपी के विधायक अशोक सिंह ने अपनी ही पार्टी के मंत्री रामसूरत राय को घेरा है.

    उन्होंने मंत्री रामसूरत राय के ऊपर लगे आरोपों पर कहा कि स्कूल में रामसूरत राय के बुलाने पर एक-दो बार गया हूं तब साइकिल रेस का फंक्शन हुआ था, इसमें चीफ गेस्ट नंदकिशोर बाबू (यादव) भी थे. जिस स्कूल में कथित शराब मिलने की घटना हुई थी, उस स्कूल में रामसूरत राय ने हमें निमंत्रित किया था. उन्होंने बताया कि दो-ढाई साल पहले की घटना है. उस वक़्त रामसूरत जिलाध्यक्ष थे और हम लोग उस स्कूल में गए थे. मंत्री रामसूरत राय के भाई के स्कूल में शराब मिली थी, जिसको लेकर तेजस्वी समेत विपक्ष ने उनसे इस्तीफा मांगा है. इसी क्रम में मुज़फ़्फ़रपुर के पारू से बीजेपी के विधायक अशोक कुमार सिंह ने भी राममूरत राय पर निशाना साधा है.

    मंत्री रामसूरत राय ने क्या कहा

    मंत्री रामसूरत राय ने कहा कि जिस स्कूल में शराब बरामदगी की बात हो रही है वो मेरा स्कूल नही है. मेरे भाई के नाम पर जमीन है. उस स्कूल का एक स्टाफ वहां शराब लाया था. जिस पर मुकदमा दर्ज कराया गया है. अगर मेरे भाई पर मामला दर्ज है तो मैं क्यों इस्तीफा दूं. मेरी छवि बिल्कुल बेदाग. मैं इस्तीफा दूंगा तो तेजश्वी को भी इस्तीफा देना चाहिए उनके उनके पिता भ्रष्टाचार के मामले में जेल में बंद है. पिता पर भ्रष्टाचार के आरोप के बाद नेता प्रतिपक्ष के पद से पहले तेजस्वी इस्तीफा दें.

    'आपको मंत्री किसने बना दिया' तेजस्वी के बयान से बिहार विधानसभा में जमकर हंगामा



    रामसूरत राय के मसले पर दिन पर चला हंगामा

    बिहार विधानसभा में रामसूरत राय के मसले पर आज दिन भर हंगामा होता रहा. रामसूरत राय पर आरोप है कि मुजफ्फरपुर स्थित उनके भाई के स्कूल कैंपस से शराब बरामद हुई है और उन पर कोई कार्रवाई नहीं हो रही है. दिलचस्प यह है कि रामसूरत राय के मामले में आरजेडी के द्वारा कार्य स्थगन प्रस्ताव लाया गया. जिन्होंने कार्य स्थगन प्रस्ताव लाया उन पर खुद शराबबंदी कानून के उल्लंघन के मामले में मुकदमा दर्ज है.

    मामला मसौड़ी विधायक रेखा देवी का है जिन पर खुद शराबबंदी कानून के उल्लंघन का मामला मसौढ़ी विधानसभा अंतर्गत धनरूआ थाने में वर्ष 2017 में मुकदमा दर्ज किया गया था. जिसका जिक्र रेखा देवी ने अपने चुनावी हलफनामे में भी किया है.

    इस पूरे मामले पर रेखा देवी कहती हैं कि उन्हें पुलिस के द्वारा जबदस्ती फंसाया गया है. मुझ पर बेबुनियाद आरोप हैं कि मसौढ़ी डीएसपी ने शराब नहीं बेचने वालों को जबरन पकड़ा था, जिस पर मैं जानता के साथ प्रदर्शन करने गई थी. बाद में मुझे पता चला कि मुझ पर शराब बेचने के आरोप में मुकदमा किया गया है. मुझ पर शराबबंदी के मामले में झूठा मुकदमा किया गया है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.