लाइव टीवी

बिहार उपचुनाव 2019: सीमांचल के किशनगंज सीट पर AIMIM की जीत के ये हैं बड़े कारण

Sunil Silwal | News18Hindi
Updated: October 24, 2019, 5:04 PM IST
बिहार उपचुनाव 2019: सीमांचल के किशनगंज सीट पर AIMIM की जीत के ये हैं बड़े कारण
असदुद्दीन ओवैसी बिहार में चुनाव प्रचार भी चुके हैं (फाइल फोटो)

बिहार में किशनगंज विधानसभा सीट पर एआईएमआईएम (AIMIM) के प्रत्याशी कमरुल होदा ने बीजेपी (BJP) की स्वीटी सिंह को हराकर चुनाव जीता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 24, 2019, 5:04 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. असदउद्दीन औवेसी (Asaduddin Owaisi) की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) ने पहली बार बिहार (Bihar) में अपना खाता खोला है. सीमांचल के किशनगंज विधानसभा सीट (Kishanganj Assembly Seat) पर हुए उपचुनाव (By Election) में पार्टी उम्मीदवार को जीत मिली है. इससे पहले इस सीट पर पार्टी लोकसभा (Lok sabha) और विधानसभा का चुनाव लड़ चुकी है, लेकिन वो तीसरे और दूसरे नंबर पर ही आती रही थी. एआईएमआईएम की इस जीत पर पार्टी के बिहार के जनरल सेक्रेटरी ने न्यूज़ 18 हिंदी से बातचीत करते हुए इस जीत के बड़े कारण बताए हैं.

पीड़ितों की कोई आवाज सुनने वाला नहीं था, हमने काम किया

बिहार एआईएमआईएम के जनरल सेक्रेटरी इश्तियाक बताते हैं कि, पिछले काफी वक्त से बिहार में पीड़ित और अल्पसंख्यकों की कोई सुनने वाला नहीं है. किसी और काम की तो छोड़िए उनके मोहल्लों में पीने का पानी और साफ-सफाई के लिए भी कहीं कोई सुनवाई नहीं होती है. जबकि हमारी पार्टी के लोग सत्ता में न होने के बाद भी उनके लिए हर समय तैयार रहते हैं.

कांग्रेस ने सिर्फ वोट बैंक बनाकर छोड़ा

इश्तियाक का कहना है कि किशनगंज में कांग्रेस का सांसद है. लेकिन उन्हें पीड़ित और जरूरतमंदों की याद तभी आती है जब वोट चाहिए होते हैं. लेकिन जब चुनाव लड़ाने की बारी आती है तो अपने लोगों को बढ़ावा देते हैं. मतलब इन्हें कमजोरों का वोट चाहिए, लेकिन न तो उन्हें आगे बढ़ने देंगे और न ही साफ पीने का पानी और मोहल्लों में सफाई देंगे.

तेजस्वी में वो लालू यादव वाली बात नहीं

उन्होंने बताया कि जब तक बिहार की सियासत में लालू प्रसाद यादव थे तो कमजोरों और पीड़ितों को कोई परेशानी नहीं होने देते थे. हर किसी की बात सुनी जाती थी. फिर वो चाहे कोई भी हो. गली-मोहल्ले के छोटे-छोटे काम के लिए कभी भटकना नहीं पड़ता था.
Loading...

इलाज करने हैदराबाद से आई थी डॉक्टरों की टीम

इश्तियाक बताते हैं कि अभी हाल ही में भारी बारिश से बिहार में जगह-जगह पानी भर गया था. लेकिन जब पानी उतरा तो बीमारियां फैल गईं. ऐसे में एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदउद्दीन औवेसी ने हैदराबाद से डॉक्टरों की टीम भेजी थी. यह टीम एक महीने तक किशनगंज में रही.

ये भी पढ़ें-

भूपेन्द्र हुड्डा पर पहले भरोसा जताया होता तो इतना संघर्ष नहीं कर रही होती कांग्रेस

दुकानदार ने प्लास्टिक की थैली में नहीं दिया सामान, गुस्साए ग्राहक ने पीट-पीटकर मार डाला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए किशनगंज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 24, 2019, 3:40 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...