नवादा में लॉक डाउन 2.0 के दौरान हुई अनोखी शादी, मास्क लगाकर वर-वधू ने थामा एक-दूसरे का हाथ
Nawada News in Hindi

नवादा में लॉक डाउन 2.0 के दौरान हुई अनोखी शादी, मास्क लगाकर वर-वधू ने थामा एक-दूसरे का हाथ
चंद लोगों की मौजूदगी में हुई यह शादी.

नवादा जिले के हिसुआ की इस अनोखी शादी में न बैंड बाजा, न ताम-झाम, न नाते-रिश्तेदारों का हुजूम और न ही प्रीतिभोज था.

  • Share this:
नवादा. एक तरफ देश में लॉक डाउन के बीच शादियों आदि समारोह पर प्रतिबंध लग गया है. बिहार के नवादा जिले के हिसुआ में एक अनोखी शादी देखने को मिली है. न बैंड बाजा, न ताम-झाम, न नाते-रिश्तेदारों का हुजूम और न ही प्रीति भोज. बस आठ से दस लोगों के बीच पूरे विधि विधान से हिंदू रीति रिवाज से शादी हुई. दूल्हा-दुल्हन समेत सभी लोग मास्क लगाए हुए थे. यह संभव हुआ शेखपुरा के जिलाधिकारी (डीएम) से आग्रह करने के बाद मिले पास से. जिसके सहारे बरबीघा से एक वाहन में सवार होकर दूल्हा समेत चार लोग बुधवार को हिसुआ पहुंचे थे.

मिली जानकारी के अनुसार, हिसुआ के काली स्थान निवासी स्वर्गीय धर्मदेव कंधवे की बेटी कुमारी श्वेता की शादी शेखपुरा के बरबीघा, हनुमान गली निवासी स्वर्गीय गोपाल प्रसाद वैश्कियार के पुत्र गौरव कुमार वैश्कियार के साथ 25 मार्च, 2020 को होनी थी, लेकिन लॉक डाउन की वजह से वो रुक गई. इसके बाद गौरव के परिवार वालों ने शेखपुरा डीएम से लॉक डाउन के नियमों के पालन का सशर्त पास निर्गत करने का आग्रह किया. उनके आदेश पर अनुमंडल कार्यालय से पास दिया गया. जिसके आधार पर 15 अप्रैल को दूल्हा गौरव के साथ तीन बाराती वाहन से हिसुआ पहुंचे.

8-10 लोगों की मौजूदगी में हुई शादी
सादे समारोह में वर और वधू पक्ष के मात्र आठ-दस लोगों की उपस्थिति में विवाह कराया गया. मास्क लगाकर और सोशल डिस्टेंसिंग बनाकर दूल्हा-दुल्हन बैठे और उन्होंने एक-दूसरे को वरमाला पहनाया. शादी समारोह इतने गुपचुप तरीके से हुई कि लोगों को इसकी भनक तक नही लगी. बाद में, सोशल मीडिया के माध्यम से विवाह की जानकारी टोले-मुहल्लों वालों को हुई. जब यह खबर फैली तो वो सबके चर्चा का विषय बन गई. शादी 15 अप्रैल की देर रात हुई और अहले सुबह वर-वधू बरबीघा के लिए निकल गए. पूरे दिन इस शादी की चर्चा सोशल मीडिया पर भी होती रही.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज