अपना शहर चुनें

States

Ground Report: कोरोना से मौत के बाद राघोपुर से जुड़ी सभी सीमा सील, 63 लोग किए गए क्वारंटाइन

वैशाली के राघोपूर पूर्वी गांव को किया जा रहा सैनिटाइज
वैशाली के राघोपूर पूर्वी गांव को किया जा रहा सैनिटाइज

राघोपुर एक दियारा इलाका है जिसे हम नदी के टापू के तौर पर भी जानते हैं. राघोपुर जाने के जो भी रास्ते हैं उन्हें तत्काल बंद कर दिया गया.

  • Share this:
वैशाली. बिहार में कोरोना (Corona) के अब तक 85 मरीज पॉजीटिव पाए गए हैं और इनमें दो लोगों की मौत भी हो चुकी है. बिहार में जिन दो मरीजों की कोरोना से जान गई है उसमें पहली मौत कतर से बिहार लौटे मुंगेर के सैफ की हुई थी जबकि दूसरे मरीज की शुक्रवार को पटना AIIMS में मौत हुई है. यह शख्स वैशाली के राघोपुर पूर्वी गांव का रहनेवाला था. सबसे आश्चर्य की बात है कि राघोपुर के इस व्यक्ति की अबतक कोई ट्रैवल हिस्ट्री नहीं मिल पायी है. हालांकि पुलिस ने ऐहतियातन इस गांव को पूरी तरह से बंद कर दिया है. न्यूज 18 की टीम सबसे पहले राघोपुर ग्राउंड जीरो तक पहुंची जहां पूरे गांव को सील करके ज़िला प्रशासन सेनेटाइजेशन का काम कर रही थी.

राघोपुर से जुड़ी सारी सीमाओं की हुई नाकेबंदी
राघोपुर एक दियारा इलाका है जिसे हम नदी के टापू के तौर पर भी जानते हैं. राघोपुर जाने के जो भी रास्ते हैं उन्हें तत्काल बंद कर दिया गया. एक रास्ता हाजीपुर-गंगा ब्रिज की तरफ से तेरसिया (राघोपुर) जाता है और दूसरा कच्ची दरगाह की तरफ़ से रूस्तमपुर-पहाड़पुर होकर राघोपुर-जुड़ावनपुर तक पहुंचता है. गांव के एक व्यक्ति की मौत के बाद से राघोपुर आने-जाने के सारे रास्तों की नाकेबंदी कर दी गई है. राघोपुर गांव में जानेवाले रास्ते को बैरिकेट करके मुखिया, विकासमित्र और पुलिस के लोग लगातार वहां पहरा दे रहे हैंं.

गांव के लोग भी कर रहे हैं पहरेदारी 
राघोपुर पश्चिमी के मुखिया मुन्ना सिंह का कहना है कि कोरोना मरीज की जानकारी मिलने के बाद से ही जिला प्रशासन से लेकर हम सभी राघोपुर गांव की नाकेबंदी करके ना सिर्फ गांव के बाहर पहरा दे रहे हैं बल्कि लोगों को अपने घरों से बाहर ना निकलने की हिदायत भी दे रहे हैं. साथ में पूरे गांव को सेनेटाइज किया जा रहा है. अब तक राघोपुर के 63 लोगों को क्वारंटाइन में रखा गया है. इसके अलावा जिस शख्स की अभी-अभी मौत हुई है उसके परिवार के 8 लोगों को भी क्वारंटाइन  में रखा है. साथ ही सभी के जांच का सैंपल भी ले लिया गया है.



राघोपुर से सटे हुए गांवों में दहशत
राघोपुर के मरीज की मौत के बाद से से पूरे इलाके में हड़कंप है. तो आस-पास के गांववालों में दहशत का माहौल है साथ में गांववाले जिला प्रशासन के रैवैसे से बेहद नाराज भी हैं. राघोपुर से सटे पहाड़पुर के मुकेश कुमार और इंद्रदेव राय कहते हैं कि प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग केवल दावा करता हैं कि जबकि हकीकत यह है कि राघोपुर से सटे गांव में ना तो कोई सेनेटाइजेशन का काम हो रहा है और ना ही गांववालों को मास्क या गलब्स ही दिए जा रहे हैं. ऐसे में राघोपुर के 3 किमी के आसपास के गांव में भय का माहौल है.

ये भी पढ़ें
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज