अपना शहर चुनें

States

पूर्व विधानसभा प्रत्याशी का आरोप- मुकदमें की पैरवी के बदले अधिवक्ता ने 6 साल तक किया यौन शोषण, बनाया अश्लील वीडियो

पीड़िता का कहना है कि साल 2014 में पति से विवाद होने के बाद वह कोर्ट की शरण में आई जहां आरोपी अधिवक्ता से उसकी मुलाकात हुई. (प्रतीकात्मक तस्वीर)
पीड़िता का कहना है कि साल 2014 में पति से विवाद होने के बाद वह कोर्ट की शरण में आई जहां आरोपी अधिवक्ता से उसकी मुलाकात हुई. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

पीड़िता ने बताया कि अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी देकर उसे ब्लैकमेल किया जाने लगा यही नहीं जब इससे भी जी नहीं भरा तो आरोपी अधिवक्ता ने महिला को देह व्यापार में धकेलने के लिए दबाव बनाने लगा.

  • News18 Bihar
  • Last Updated: September 23, 2019, 12:54 PM IST
  • Share this:
हाजीपुर. बिहार (Bihar) के हाजीपुर (Hajipur) में मुकदमे की पैरवी करने के बदले एक अधिवक्ता पर महादलित महिला के साथ लगातार 6 सालों तक यौन शोषण करने का सनसनीखेज खुलासा हुआ है. पीड़ित महिला का आरोप है कि आरोपी अधिवक्ता विजय ठाकुर उर्फ मुन्ना ठाकुर ने केस की पैरवी करने के नाम पर एक सोची-समझी साजिश के तहत उसे अपने घर बुलाया उसके बाद चाय में नशीला पदार्थ मिलाकर उसे पिला दिया. इससे पहले पीड़िता कुछ समझ पाती, आरोपी अधिवक्ता ने महिला के साथ न सिर्फ बलात्कार किया बल्कि उसका एक अश्लील वीडियो भी बना लिया.

पीड़िता के अनुसार इसके बाद ही यौन शोषण का सिलसिला शुरू हो गया. पीड़िता ने बताया कि अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी देकर उसे ब्लैकमेल किया जाने लगा यही नहीं जब इससे भी जी नहीं भरा तो आरोपी अधिवक्ता ने महिला को देह व्यापार में धकेलने के लिए दबाव बनाने लगा. जिसका विरोध करने पर पीड़िता को आरोपी अधिवक्ता ने जान से मारने की कोशिश की, लेकिन पीड़िता ने किसी तरह अपनी जान बचाई.

नहीं हुई आरोपी अधिवक्ता की गिरफ्तारी
बीते 8 सितंबर को जान से मारने की कोशिश के बाद पीड़िता ने तंग आकर 9 सितंबर को एससी-एसटी थाना में आरोपी अधिवक्ता विजय ठाकुर उर्फ मुन्ना ठाकुर के खिलाफ केस दर्ज कराया, लेकिन अभी तक आरोपी अधिवक्ता की गिरफ्तारी नहीं हुई है. जिसके चलते महिला ने आरोपी अधिवक्ता पर पुलिस से मिलीभगत का आरोप लगाया है. पीड़िता का कहना है कि आरोपी अधिवक्ता अपने रसूख के बल पर गिरफ्तारी से बचता आ रहा है. ऐसे में पीड़िता ने प्रशासन से न्याय की गुहार लगाई है.
पति से विवाद के बाद हुई थी अधिवक्ता से मुलाकात


पीड़िता का कहना है कि साल 2014 में पति से विवाद होने के बाद वह कोर्ट की शरण में आई जहां अधिवक्ता विजय ठाकुर से उसकी मुलाकात हुई. शुरू में आरोपी अधिवक्ता ने उसके केस की पैरवी की, लेकिन बाद में उसकी नियत में खोट आ गई और फिर केस की पैरवी करने के बदले वह महिला को बहलाने फुसलाने लगा. ऐसे में जब बात नहीं बनी तो आरोपी अधिवक्ता ने चाय में नशा मिलाने का सहारा लिया.

पीड़िता का राजनीति से ताल्लुक
उसके बाद अश्लील वीडियो को वायरल करने की धमकी देकर उसकी आबरू लूटते रहा. यही नहीं पीड़िता का राजनीति से भी ताल्लुक रहा है उसका कहना है कि वह दो बार विधानसभा और एक बार जिला परिषद की चुनाव लड़ चुकी है, लेकिन उसे सफलता नहीं मिली. इधर पुलिस ने आरोपी अधिवक्ता के खिलाफ केस दर्ज करने की पुष्टि करते हुए आरोपी की शीघ्र गिरफ्तारी करने की बात कही है, लेकिन केस करने के 15 दिन बीत जाने के बाद भी अभी तक आरोपी अधिवक्ता की गिरफ्तारी नही होने से पीड़िता का रो-रोकर बुरा हाल है.

ये भी पढ़ें- VIDEO: SDM की अफसरशाही देख भड़के गिरिराज, बीच सड़क पर लगाई क्लास
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज