लाइव टीवी

कोरोना संक्रमित के शव को अधजला छोड़ गए लोग, कुत्तों और कौवों ने बनाया निवाला
Vaishali News in Hindi

Rajeev Mohan | News18 Bihar
Updated: May 22, 2020, 5:33 PM IST
कोरोना संक्रमित के शव को अधजला छोड़ गए लोग, कुत्तों और कौवों ने बनाया निवाला
बिहार के वैशाली में कोरोना के मरीज़ की चिता को अधजला छोड़ा. (सांकेतिक फोटो)

सिविल सर्जन इंद्रदेव रंजन ने कहा कि कोरोना मरीज (COVID-19 Patient) के शव का दाह संस्कार कल (गुरुवार) कर दिया गया था. जिस शव के टुकड़े को वहां कुत्ते और कौवे अपना निवाला बनाते नजर आए वो कोरोना मरीज का नहीं है. बल्कि वो किसी अन्य शव का हो सकता है

  • Share this:
हाजीपुर. वैशाली (Vaishali) जिले के हाजीपुर के कोनहारा घाट पर एक अधजले शव को कुत्तों और कौवों द्वारा निवाला बनाए जाने की खबर से प्रशासनिक महकमे में हड़कंप मच गया है. स्थानीय लोगों ने प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कहा कि यह अधजला शव कोरोना मरीज (COVID-19 Positive) का है जिसे गुरुवार को यहां दाह संस्कार के लिए लाया गया था. लेकिन उसे अधजली हालत में छोड़ दिया गया, जिसे अब कुत्ते और कौवे अपना निवाला बना रहे हैं. इस बात का पता चलते ही मौके पर लोगों की भारी भीड़ जमा हो गई और इसको लेकर उन्होंने काफी हंगामा किया.

कोनहारा घाट पर दुकान चलाने वाली कुंती देवी ने बताया कि कोरोना मरीज की डेड बॉडी (Dead Body) को यहीं पर जलाया गया था, लेकिन वो पूरी तरह नहीं जल पाया था. जिसके चलते उसे कौवे और कुत्ते नोच कर खाते नजर आए. लोगों ने इसकी सूचना स्थानीय प्रशासन को दी तो सदर अस्पताल से स्वास्थ्यकर्मी और पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे. प्रशासन ने स्थानीय लोगों के दावों को यह कह कर खारिज कर दिया कि यह कथित कोरोना मरीज के शव के अवशेष नहीं है.

सिविल सर्जन ने कहा- अन्य किसी शव का हो सकता है अवशेष
वहीं, सिविल सर्जन इंद्रदेव रंजन ने कहा कि कोरोना मरीज के शव का दाह संस्कार कल (गुरुवार) कर दिया गया था. जिस शव के टुकड़े को वहां कुत्ते और कौवे अपना निवाला बनाते नजर आए वो कोरोना मरीज का नहीं है. बल्कि वो किसी अन्य शव का हो सकता है. उन्होंने कहा कि ग्रामीणों के हंगामा किए जाने के बाद उनकी संतुष्टि के लिए कथित शव के टुकड़े को जलाने का आदेश दिया गया है. जिसके बाद कोनहारा घाट पर उसे एकत्रित कर प्रशासन द्वारा जला दिया गया. बहरहाल इस दौरान यहां तरह-तरह की चर्चाएं होती रहीं और स्थानीय लोगों ने प्रशासन पर मामले की लीपापोती करने का आरोप लगाया.



बता दें कि दो दिन पहले राजकीय अंबेडकर आवासीय बालिका विद्यालय में बनाए गए क्वारंटाइन सेंटर में पटेढ़ी बेलसर के रहने वाले प्रवासी मजदूर राजेश कुमार ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी. राजेश नोएडा से यहां आया था. उसकी मौत के बाद उसकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई थी. जिसके बाद प्रशासन की देखरेख में गुरुवार को कोनहारा घाट पर उसके शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया था.



ये भी पढ़ें :- 

Bihar Election: 'सप्तऋषियों' के आसरे चुनावी नैया पार लगाने की तैयारी में BJP

नीतीश ने टेबल पर मुक्का मारा, बोले-मैं बनूंगा मुख्यमंत्री, By hook or by crook

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए वैशाली से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 22, 2020, 3:51 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading