रामविलास पासवान के गायब होने के लगे थे बैनर, भाई ने आज पीड़ित परिवारों को 5 हजार रु. और दवाएं दीं

हाजीपुर से लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के सांसद पशुपति कुमार पारस रविवार को हरिवंशपुर गांव पहुंचे. उन्होंने एईएस के अपने बच्चों को गंवाने वाले प्रत्येक पीड़ित परिवार को 5 हजार रुपए और दवाएं वितरित कीं.

News18 Bihar
Updated: June 23, 2019, 3:55 PM IST
रामविलास पासवान के गायब होने के लगे थे बैनर, भाई ने आज पीड़ित परिवारों को 5 हजार रु. और दवाएं दीं
हाजीपुर: पशुपति कुमार पारस ने पीड़ितों के परिवारों को 5 हजार रु. और दवाएं दीं.
News18 Bihar
Updated: June 23, 2019, 3:55 PM IST
हाजीपुर से लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के सांसद पशुपति कुमार पारस रविवार को हरिवंशपुर गांव पहुंचे. उन्होंने एईएस के अपने बच्चों को गंवाने वाले प्रत्येक पीड़ित परिवार को 5 हजार रुपए और दवाएं वितरित कीं. पारस रामविलास पासवान के भाई हैं. गौरतलब है कि शनिवार को एक्यूट इन्सेफेलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) यानी चमकी बुखार से लगातार हो रही बच्चों की मौत के बाद लोगों ने केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान को ढूंढ़ने के लिए भी बैनर लगाए थे.

वैशाली जिले के हरिवंशपुर गांव में शनिवार को केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान और स्थानीय एमएलए के लापता होने के बैनर लेकर स्थानीय लोगों ने प्रदर्शन किया. बैनर में लिखा है कि केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान को ढूंढ़कर लाने वाले को 15 हजार रुपए का इनाम दिया जाएगा.



उनसे पहले मुजफ्फरपुर में राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता तेजस्वी यादव के लापता होने के पोस्टर लगाए जा चुके हैं. उन्हें खोजकर लाने वाले को 5100 रुपए का इनाम देने की घोषणा की गई है.
Loading...




बिहार में चमकी बुखार यानी इंसेफेलाइटिस का कहर लगातार जारी है. अब तक इस बीमारी ने बिहार में 167 बच्चों की जान ले ली है जबकि अभी भी कई इसकी चपेट में हैं. रविवार को इस बीमारी से बिहार के दो बच्चों ने दम तोड़ दिया है जिनमें एक की मौत मुजफ्फरपुर में हुई है. वहीं सीवान के एक बच्चे की गोरखपुर में मौत हो गई.

ये भी पढ़ें - 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए वैशाली से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 23, 2019, 3:18 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...