लाइव टीवी

बिहार: एक बार फिर बोले अमित शाह- NDA नीतीश के नेतृत्‍व में ही लड़ेगा चुनाव

News18 Bihar
Updated: January 16, 2020, 3:13 PM IST

अमित शाह (Amit Shah) ने एक बार फिर साफ-साफ कहा कि एनडीए बिहार में नीतीश जी के नेतृत्व में ही चुनाव लड़ेगा. साथ ही CAA और NRC पर कांग्रेस समेत अन्‍य विपक्षी दलों पर निशाना साधा.

  • Share this:
पटना/वैशाली. नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी (CAA & NRC) के समर्थन में लोगों को जागरूक करने के लिए देश के गृह मंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) ने वैशाली में एक जनसभा को संबोधित किया. दुनिया के पहले लोकतंत्र लिच्छिवी गणतंत्र की राजधानी रही वैशाली में उन्होंने इस मुद्दे का विरोध कर रहे कांग्रेस समेत तमाम विरोधी दलों पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि विपक्ष इस मुद्दे को लेकर भ्रम फैला रहा है. बीजेपी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष ने इसके साथ ही एक बार फिर से यह स्‍पष्‍ट कर दिया है कि NDA बिहार के अंदर नीतीश जी के नेतृत्व में ही चुनाव लड़ेगा. भाजपा और जदयू एक साथ लड़ने वाली है.

लालू पर साधा निशाना
बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने साफ कहा कि भाजपा और जदयू एक साथ चुनाव लड़ने वाली है. उन्‍होंने स्‍पष्‍ट लहजे में कहा कि लालू यादव को जेल में रहकर जो सपना आता है, उन्हें मैं कहना चाहता हूं कि BJP-JDU का गठबंधन अटूट है. इसमें कोई सेंध नहीं लगेगी.

राहुल पर भी कसा तंज

अमित शाह ने CAA-NRC को घर-घर ले जाकर लोगों को लामबंद करने का आह्वान किया. उन्‍होंने कहा कि मैं राहुल बाबा (राहुल गांधी) और लालू यादव को भी बता देता हूं कि जनता को गुमराह मत कीजिए. गृह मंत्री ने सरकार के रुख को स्‍पष्‍ट करते हुए कहा कि वह बिहार की जनता से यह कहने आए हैं कि इसमें नागरिकता देने का प्रावधान है, न कि लेने का. अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने धर्म के आधार पर देश का विभाजन कर गलत नींव डालने का काम किया. इसके कारण लाखों लोग मारे गए और लाखों की तादाद में शरणार्थी देश में आए. इसके बावजूद पश्चिम और पूर्वी पाकिस्तान में अन्याय शुरू हो गया.

'मानवाधिकार के चैंपियन क्‍यों कर रहे विरोध'
अमित शाह ने कहा कि देश जब आजाद हुआ तो पूर्वी और पश्चिमी पाकिस्तान में 30-30 प्रतिशत अल्पसंख्यक थे. लेकिन, इन्हें प्रताड़ित कर खदेड़ दिया गया. इनका धर्म परिवर्तन कराया गया. विरोधी दल इसका क्यों विरोध कर रहे हैं ये बात अब समझ आ रही है. बीजेपी अध्‍यक्ष ने कहा कि ये लोग वोट की लालच में अपनी मति खो बेठे हैं. अमित शाह ने कहा, 'परिवार में पिता के सामने बेटी का और पति के सामने पत्नी का बलात्कार किया गया, गुरुद्वारों और मंदिरों को मस्जिद बना दिया गया एवं उनके मानवाधिकारों का हनन किया गया. मैं मानवाधिकार के चैंपियनों से पूछना चाहता हूं कि जब CAA ऐसे लोगों के अधिकार लौटाने के लिए है तो इसका विरोध क्यों हो रहा है?'अमित शाह ने पूछा- दलितों ने विपक्ष का क्‍या बिगाड़ा
अमित शाह ने कहा, 'जिन शरणार्थियों को भारतीय नागरिकता मिलेगी इनमें अधिकतर दलित और पिछड़े समुदाय के लोग हैं. इनमें मतवा और शूद्र समाज के लोग हैं. इन दलितों ने विपक्ष का क्या बिगाड़ा है? नरेंद्र मोदी जी उन्हें नागरिकता दे रहे हैं तो आपको क्या आपत्ति है?' अमित शाह ने कहा कि राजस्थान में ऐसे लोगों को नागरिकता दी भी गई है. आप करते हैं तो सांप्रदायिक्ता नहीं और हम करते हैं तो यह सांप्रदायिक हो जाता है.

विपक्ष पर दंगा करवाने का आरोप
बीजेपी अध्‍यक्ष ने कहा कि सीएए जब लाया गया तो कांग्रेस समेत विपक्ष ने देश में दंगा करवाया. इसका पूरा दोष कांग्रेस पार्टी के जिम्मे है. उन्‍होंने कांग्रेस के साथ लालू यादव, ममता बनर्जी और अरविंद केजरीवाल पर भी हमला बोला. उन्‍होंने कहा, 'मैं आज बता देना चाहता हूं कि भारत की जमीन पर जो भी भारत माता के टुकड़े करने की बात करेगा उसकी जगह जेल में होगी.'उन्होंने मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के बारे में कहा कि इस बार जब जीत हुई तो सबसे पहला काम अनुच्‍छेद 370 को हटाकर किया गया. मोदी जी ने कश्मीर को हमेशा के लिए भारत के साथ जोड़ा. आज वहां तिरंगा आसमान को छूते हुए लहरा रहा है. अमित शाह ने अयोध्‍या में भव्‍य राम मंदिर बनवाने की भी बात कही.

ये भी पढ़ें

...तो रघुवंश की चिट्ठी पर लालू ने लिया एक्शन! पढ़ें RJD में घमासान की इनसाइड स्टोरी

CAA पर सियासत! वैशाली में अमित शाह की जनसभा तो सीमांचल से तेजस्वी शुरू करेंगे प्रतिरोध यात्रा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पटना से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 16, 2020, 2:24 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर