RJD में बगावत ! टिकट कटने से नाराज लालू के खास रहे भोला राय के समर्थकों ने दी तेजस्वी को हराने की चेतावनी

वैशाली में बैठक करते पूर्व एमएलसी भोला राय के समर्थक

एक समय था जब भोला राय पार्टी सुप्रीमो लालू प्रसाद के बेहद करीबी और विश्वासपात्र माने जाते थे लेकिन हाल के दिनों में पार्टी के नाराज नेताओं के गुट में भोला राय शामिल हैं.

  • Share this:
वैशाली. चुनावी साल में राजद की मुश्किलें कम होती नहीं दिख रही हैं. पांच विधान पार्षदों के पार्टी का साथ छोड़ने के बाद अब सारण इलाके में पार्टी के कद्दावर नेता और पूर्व एमएलसी भोला राय के समर्थक भी पार्टी आलाकमान से आर पार की लड़ाई के मूड में हैं. वैशाली के बिदुपुर में बैठक कर राजद के पूर्व विधान परिषद सदस्य और लालू प्रसाद के बेहद करीबी रहे भोला भोला राय को एमएलसी का उम्मीदवार  नहीं बनाए जाने पर पार्टी कार्यकर्ताओं ने आलाकमान को सबक सिखाने का ऐलान किया है.

इसको लेकर धबौली में पार्टी कार्यकर्ताओं की एक अहम बैठक हुई जिसमें बड़ी संख्या में पार्टी कार्यकर्ता शामिल हुए. इस अवसर पर पार्टी आलाकमान से नाराज चल रहे भोला राय के समर्थकों ने साफ तौर पर कहा कि यदि प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव भोला राय को एमएलसी का उम्मीदवार नहीं बनाते हैं तो आने वाले चुनाव में पार्टी आलाकमान को इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा. कार्यकर्ताओं का यहां तक कहना है कि यदि भोला राय को सम्मान नहीं मिला तब राघोपुर में होने वाले विधानसभा चुनाव में भोला राय के समर्थक चुनाव मैदान में अपना उम्मीदवार  करने से भी नहीं चूकेंगे और इसका सीधा नुकसान तेजस्वी यादव को होगा.

बताते चलें कि भोला राय को एमएलसी का उम्मीदवार बनाने की मांग को लेकर उनके समर्थकों की इन दिनों लगातार बैठक चल रही है. इससे पहले सोमवार को भी भोला राय के हाजीपुर पोखरा मोहल्ला स्थित आवास पर पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठक हुई थी जिसमें स्वयं भोला राय भी उपस्थित थे. उन्होंने भी अपनी इच्छा जाहिर की थी. भोला राय ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि पार्टी आलाकमान उन्हें विधान परिषद का उम्मीदवार बनाएगी लेकिन जब उनसे पूछा गया क्या इस संबंध में पार्टी आलाकमान से आपकी बात हुई है इस पर उन्होंने कहा कि अभी तक किसी से बात नही हुई है.

भोला राय की बातों में साफ तौर पर पार्टी आलम कमान के खिलाफ नाराजगी दिखी उधर पार्टी कार्यकर्ताओं का नेतृत्व कर रहे पार्टी के प्रदेश महासचिव राजीव रंजन ने भी तल्ख तेवर अख्तियार करते हुए पार्टी आलाकमान को चेतावनी दी है. राजीव रंजन का कहना है कि भोला राय 30 सालों से अधिक समय तक राजद के साथ रहते आ रहे हैं और उनके नेतृत्व में हजारों कार्यकर्ता राजद का झंडा ढो रहे हैं. राजीव रंजन ने यहां तक कहा कि राजद को खड़ा करने में भोला राय की अहम भूमिका रही है ऐसे में भोला राय की उपेक्षा पार्टी को महंगा पड़ेगा.

मंगलवार को भी भोला राय के समर्थकों ने चक सिकंदर में बैठक की थी और वहां भी भोला राय को एमएलसी का उम्मीदवार नहीं बनाने जाने को लेकर नाराजगी जाहिर की थी. पार्टी के सक्रिय कार्यकर्ता मटुक धारी सिंह ने कहा कि राघोपुर की जनता भोला राय का अपमान नहीं सहेगी. इसके लिए तेजस्वी यादव को आगे आकर देखना होगा वरना आगामी विधानसभा चुनाव में पार्टी को इसका नुकसान उठाना पड़ेगा. एक समय था जब भोला राय पार्टी सुप्रीमो लालू प्रसाद के बेहद करीबी और विश्वासपात्र माने जाते थे लेकिन हाल के दिनों में पार्टी के नाराज नेताओं के गुट में भोला राय शामिल है

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.