आधे घंटे का एनकाउंटर और 500 राउंड फायरिंग के बाद STF ने बिहार में मार गिराए तीन अपराधी

एनकाउंटर के बाद जब पुलिस शवों को उठाने गई तो अपराधियों के शरीर में लाखों के गहने भी मिले जिनमें चेन से लेकर ब्रासलेट और अंगूठी तक शामिल थे.

News18 Bihar
Updated: March 17, 2019, 11:24 AM IST
आधे घंटे का एनकाउंटर और 500 राउंड फायरिंग के बाद STF ने बिहार में मार गिराए तीन अपराधी
घटनास्थल पर पहुंची पुलिस
News18 Bihar
Updated: March 17, 2019, 11:24 AM IST
बिहार के वैशाली में पुलिस ने एनकाउंटर के दौरान तीन अपराधियों को मार गिराया है. जिले के महनार थाना इलाके के बहलोलपुर दियारा इलाके में हुई इस कार्रवाई में दोनों तरफ से आधे घंटे तक गोलियां चलती रहीं. लगभग आधे घंटे तक हुई फायरिंग में 500 से ज्यादा गोलियां चलीं. इस दौरान पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान तीन अपराधियों को ढ़ेर कर दिया जबकि मौके से तीन दुर्दांत अपराधियों को गिरफ्तार भी किया.

पुलिस ने अपराधियों के पास से अत्याधुनिक हथियार जिनमें दो एके-47, दो अत्याधुनिक पिस्टल समेत मैगजीन और गोली बरामद किया है. एनकाउंटर की इस घटना को पटना एसटीएफ की टीम और वैशाली पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई के दौरान अंजाम दिया. पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर ये कार्रवाई की थी. पुलिस की गोलियों का निशाना बने अपराधियों में  राघोपुर दियारा का रहने वाला मुख्य सरगना मनीष समेत उसके दो साथी मनिहारी मुजफ्फरपुर के रहने वाले इमाम और समस्तीपुर का रहने वाला अब्दुल अमान शामिल हैं.

ये भी पढ़ें- लोकसभा चुनाव 2019: बाहुबली अनंत सिंह की पत्नी होंगी मुंगेर सीट से महागठबंधन की उम्मीदवार !



पुलिस के मुताबिक ऑपरेशन शुक्रवार की देर रात शुरू हुआ था. इस दौरान पुलिस ने अपराधियों को आत्मसमर्पण करने के लिए कहा था लेकिन अपराधियों ने पुलिस पर ऑटोमेटिक रायफल से फायरिंग करना शुरू कर दिया. इसके जवाब में पुलिस ने भी फायरिंग की और अपराधियों को मार गिराया. पुलिस के मुताबिक दोनों तरफ से करीब 500 राउंड गोलियां चली. ऑपरेशन को अंजाम देने से पहले सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके की घेराबंदी की थी. एनकाउंटर के बाद पुलिस ने जब अपराधियों के ठिकाने की तलाशी ली तो वहां सारे सुख सुविधा मौजूद दिखे.

ये भी पढ़ें- शिक्षा विभाग के क्लर्क को दिनदहाड़े गोलियों से भूना, अगले महीने ही होनी थी शादी

पुलिस को झोपड़ी से कई ऐसे सामान मिले जिनका उपयोग लग्जरी लाइफ जीने में होता है. एनकाउंटर के बाद जब पुलिस शवों को उठाने गई तो अपराधियों के शरीर में लाखों के गहने भी मिले जिनमें चेन से लेकर ब्रासलेट और अंगूठी तक शामिल थे. जिस गिरोह के गुर्गों को पुलिस ने मार गिराया है वो इलाके समेत कई अलग-अलग राज्यों जिनमें राजस्थान, पश्चिम बंगाल, मध्य प्रदेश, और कर्नाटक से सोना लूट चुके थे.

जानकारी के अनुसार मारा गया मनीष कुख्यात अपराधी सुबोध सिंह का दाहिना हाथ था. सुबोध सिंह को पिछले साल ही एसटीएफ ने पकड़ लिया था. यह गैंग पश्चिम बंगाल, कोटा, जयपुर में लूट की कई वारदातों को अंजाम दे चुका है. इस गैंग की तलाश में कई राज्यों की पुलिस भी बिहार आती रही है.
Loading...

इनपुट- राजीव मोहन
Loading...

और भी देखें

पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...