लाइव टीवी

वैशाली: अधजली लाश के VIRAL VIDEO पर बोलीं DM- कोरोना का मरीज नहीं मरने वाला
Patna News in Hindi

भाषा
Updated: May 23, 2020, 6:48 AM IST
वैशाली: अधजली लाश के VIRAL VIDEO पर बोलीं DM- कोरोना का मरीज नहीं मरने वाला
कोरोना के संक्रमण को करीब दो महीने पूरे होने जा रहे हैं. लेकिन इंदौर के हालात सुधरते दिखाई नहीं दे रहे हैं. (प्रतीकात्मक फोटो)

वैशाली (Vaishali) की डीएम ने कहा कि, 'अधजली लाश पक्के तौर पर कोविड-19 (COVID-19) के मरीज की नहीं है. अफवाहों के बाद अधिकारियों को मौके पर भेजा गया और अधजली लाश का अंतिम संस्कार किया गया.

  • Share this:
हाजीपुर (बिहार). वैशाली (Vaishali) जिला प्रशासन ने शुक्रवार को उन खबरों को खारिज किया, जिनमें कौवों और आवारा कुत्तों द्वारा नोची जा रही एक अधजली लाश को लेकर दावा किया गया था कि यह कोविड-19 (COVID-19) के मरीज का शव है. सोशल मीडिया पर वायरल एक वीडियो में दिखाया जा रहा था कि कौवें और आवारा कुत्ते एक लाश को नोच रहे हैं.

ये भ्रामक और शरारती दावे हैं: जिलाधिकारी
इस वीडियो की खबर स्थानीय समाचार चैनलों द्वारा भी प्रसारित की गई और कहा गया कि यह लाश 35 वर्षीय व्यक्ति की है, जो कि क्वारंटाइन सेंटर में मृत पाया गया था. वैशाली की जिलाधिकारी उदिता सिंह ने कहा, ' ये भ्रामक और शरारती दावे हैं.'

सिंह ने एक प्रेसवार्ता में कहा, 'अधजली लाश पक्के तौर पर कोविड-19 के मरीज की नहीं है. यद्यपि हम लाश की शिनाख्त करने में समर्थ नहीं हैं. अफवाहों के बाद अधिकारियों को मौके पर भेजा गया था और अधजली लाश का अंतिम संस्कार किया गया.'



लापरवाही से अंतिम संस्कार करने का था आरोप


दिल्ली से लौटने के बाद व्यक्ति को अंबेडकर हॉस्टल के क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया था, जहां उसका शव छत से लटकता पाया गया था. स्थानीय मीडिया के मुताबिक, कोनहारा घाट के निवासियों ने आरोप लगाया कि बुधवार रात को व्यक्ति का अंतिम संस्कार बेहद लापरवाही से किया गया क्योंकि पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों को संक्रमण का डर था.

संक्रमण के डर से किया गया अंतिम संस्कार का विरोध
हालांकि, जिलाधिकारी उदिता सिंह ने कहा कि स्थानीय लोगों ने ही कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरे के डर से अंतिम संस्कार के समय विरोध किया था. उन्होंने कहा कि शव के अंतिम संस्कार के समय तक परिवार का कोई भी व्यक्ति नहीं पहुंचा. उन्होंने कहा कि जाहिर है संक्रमण के डर से कोई नहीं आया और अधिकारियों ने ही इसका ध्यान रखा कि अंतिम संस्कार सही से किया जाए.

ये भी पढ़ें - 

COVID-19 से मौतों के आंकड़ें बताने का निर्देश दें, हाईकोर्ट में याचिका खारिज

COVID-19: दिल्ली हाईकोर्ट और जिला अदालतों के कामकाज पर 31 मई तक पाबंदी
First published: May 23, 2020, 6:17 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading