वैशाली गुलनाज हत्याकांड: मुख्य आरोपी ने SDPO ऑफिस में किया सरेंडर, तीसरे की गिफ्तारी को छापेमारी

गुलनाज हत्याकांड के मुख्य आरोपी ने किया सरेंडर
गुलनाज हत्याकांड के मुख्य आरोपी ने किया सरेंडर

ADG जितेंद्र कुमार (ADG Jitendra Kumar) ने बताया कि आरोपियों की गिरफ्तारी के लिये महनार SDPO के नेतृत्व में SIT का गठन किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 19, 2020, 8:25 AM IST
  • Share this:
वैशाली. चांदपुरा थाना इलाके के रसलपुर हबीब में छेड़खानी (Molestation) का विरोध करने पर युवती को जलाकर मार डालने के मामले में पुलिस दबिश के बाद आखिरकार मुख्य आरोपी ने आत्मसमर्पण (surrender) कर दिया. बताया जा रहा है कि आरोपी सतीश कुमार राय महनार पहुंच कर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी के कार्यालय में सरेंडर किया. मिली जानकारी के अनुसार मुख्य आरोपी सतीश कुमार अचानक महानार डीएसपी कार्यालय पहुंचा जहां उसने खुद को पुलिस के हवाले कर दिया. इस दौरान आरोपी सतीश कुमार राय ने अपने आप को निर्दोष बताते हुए न्याय पर भरोसा जताया और कहा कि न्याय के लिए वह पुलिस के समक्ष आत्मिक समर्थन किया है.

बता दें कि मुख्य आरोपी के सरेंडर के साथ ही मामले के कुल 2 आरोपी अब पुलिस की गिरफ्त में आ गए हैं जबकि एक आरोपी  विजय कुमार अभी भी पुलिस के गिरफ्त से बाहर है. गौरतलब है कि पूर्व में पुलिस की टीम ने बिदुपुर के भैरोपुर से मामले के एक आरोपी चंदन कुमार को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है.

पुलिस मुख्यालय ने इस मामले में एक विज्ञप्ति जारी कर स्थिति स्पष्ट की है. ADG जितेंद्र कुमार ने बताया कि आरोपियों की गिरफ्तारी के लिये महनार SDPO के नेतृत्व में SIT का गठन किया गया है. बुधवार को अनुसंधान में लापरवाही बरतने वाले SI विष्णुदुबे को मुख्यालय ने निलंबित कर दिया है. गौरतलब है कि इस मामले का अब पुलिस मुख्यालय मॉनिटरिंग कर रहा है.



ये है मामला
आरोप है कि 30 अक्टूबर की देर शाम को गुलनाज को गांव के ही तीन लोगों ने केरोसिन डालकर जिंदा जला दिया था. घायल अवस्था में उसे हाजीपुर के एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उसने पुलिस को बयान दर्ज कराया था. हालत गंभीर होने के चलते गुलनाज को पटना पीएमसीएच रेफर कर दिया गया था.

गौरतलब है कि गुलनाज के कुछ वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुए थे, जिसमें वह आपबीती बता रही थी. केस की जांच के लिए जब एसडीपीओ महानार घटनास्थल पहुंचे तो उन्हें वहां परिजन नहीं मिलते हैं. इसके बाद 2 नवंबर को चंदपुरा थाने में मामला दर्ज किया गया. 14 -15 नवंबर की रात गुलनाज की PMCH में मौत हो गई. इसके बाद परिजन यहीं पर धरना दिया. हालांकि 15 नवंबर को पुलिस की देखरेख में शव का अंतिम संस्कार करा दिया गया.

मामला ज्यादा सुर्खियों में तब आया जब  इस हत्याकांड को लेकर राहुल गांधी और तेजस्वी यादव ने राज्य सरकार पर निशाना साधा था. हालांकि चंदपुरा थाने के एसएचओ को निलंबित कर दिया गया है और मुख्य आरोपी सतीश राय के सरेंडर के साथ ही इस मामले के एक और आरोपी की गिरफ्तारी की कवायद तेज कर दी गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज