नीतीश के गृह जिले का यह गांव तीन बार से कर रहा है वोटिंग का बहिष्कार

कुछ दिनों पहले ही पुलिया बनी है हादसे का गवाह
कुछ दिनों पहले ही पुलिया बनी है हादसे का गवाह

कुछ दिनों पहले ही पुलिया बनी है हादसे का गवाह

  • Share this:
सीएम नीतीश कुमार के गृह जिला नालंदा के एक गांव के लोग लगातार तीसरे चुनाव में वोटिंग का बहिष्कार करने के मूड में हैं. दरअसल ये गांव आज भी विकास से कोसो दूर है. जिला मुख्यालय बिहारशरीफ से महज 7 किलोमीटर की दूरी पर स्थित खिदरचक गांव में बीते दिनों ही दो बच्चों की मौत चचरी से बने पुल के कारण हो गई.

इसके बाद से लोगों का गुस्सा उबाल पर है. गांव की आबादी लगभग 1500 सौ है लेकिन गांव विकास से कोसों दूर है. यहां के ग्रामीण एक चचरी पुल के सहारे ही रोजमर्रा का काम करते है. ग्रामींणो के अनुसार हर साल इस चचरी पुल के कारण बच्चों की मौत डूबने से हो जाती है.

5 दिन पूर्व भी सगे भाई-बहन की स्कूल जाने के क्रम में इसी चचरी पुल से नीचे गिरने से मौत हो गयी थी. इस घटना के बाद ग्रामीणों ने सड़क पर उतरकर जमकर बवाल काटा था.



ग्रामीणों ने इसी पुल की मांग को लेकर लोकसभा चुनाव और विधानसभा चुनाव में वोट बहिष्कार भी किया था लेकिन अब तक किसी भी आलाधिकारी और जनप्रतिनिधि ने इस गांव में अपना पैर रखना मुनासिब नहीं समझा.
ऐसे में गांव वालो ने चेतावनी देते हुए एक बार फिर से कहा है कि अगर इस बार चचरी पुल की जगह लोहे के पुल का निर्माण नहीं हुआ तो आने वाले पंचायत चुनाव में भी वे अपने वोट का बहिष्कार करेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज