प्रथम चरण के चुनाव में पटना जिले की 5 विधानसभा सीटों पर 28 को होगी वोटिंग, सारी तैयारियां हुईं पूरी

बिहार में पहले चरण क मतदान 28 अक्टूबर को होगा.
बिहार में पहले चरण क मतदान 28 अक्टूबर को होगा.

बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections) में पहले चरण का मतदान (Voting) 28 अक्टूबर को होगा. पटना (Patna) जिले की 5 विधानसभा सीटों पर चुनाव के लिए सारी तैयारियां पूरी हो गई हैं. पोलिंग पार्टियों (Polling parties) को मतदान केंद्रों पर भेजा जा रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 26, 2020, 10:14 PM IST
  • Share this:
पटना. बिहार (Bihar) में विधानसभा के पहले चरण के चुनाव में पटना (Patna) की पांच विधानसभा सीटों पर वोटिंग (Voting) होनी है, जिसके लिए आज यानी सोमवार से पोलिंग पार्टियों को रवाना करने की कवायद शुरू हो गई है. इन विधानसभा सीटों पर 2204 मतदान केंद्र (Polling Booth) बनाए गये हैं. कोरोना संक्रमण (Corona infection) को देखते हुए हर बूथ पर 1000 मतदाताओं को वोट देने के लिए गाइडलाइन जारी की गई है.

पटना जिला अधिकारी और पटना एसएसपी ने संयुक्त प्रेस वार्ता कर बताया कि इस बार कोरोना के कारण सभी मतदान केंद्रों को चुनाव से पहले सैनेटाइज कराया जाएगा. इसके साथ ही सभी बूथों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जाएगा. इस बार विधानसभा चुनाव में सहायक मतदान केंद्र भी बनाए गए हैं.
सीएम नीतीश कुमार की दो टूक- मुझे हर हाल में हटाना चाहते हैं शराब के धंधेबाज

मतदान केंद्रों पर सुरक्षा के मुकम्मल इंतजाम किए गए हैं. कई लेयर में सुरक्षा के इंतजाम देखने को मिलेगा. प्रथम चरण के मतदान के लिए बूथों को 203 सेक्टरों में बांटा गया है. हर सेक्टर में जोनल और सुपर जोनल दंडाधिकारी की तैनाती रहेगी. आज से 48 घंटे पूर्व प्रचार प्रसार बंद करने के आदेश भी जारी कर दिए गए हैं.




संवेदनशील और नक्शा क्षेत्र के बूथों  के लिए पारा मिलिट्री फोर्स की तैनात
इसके साथ ही द्वितीय चरण के मतदान के लिए तैयारियां शुरू हो गई हैं. प्रथम चरण के मतदान में कुल 94 कैंडिडेट मैदान में हैं. दूसरे चरण के चुनाव में 176 कैंडिडेट अपना भाग्य आजमा रहे हैं. अब तक मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट मिलाकर के 22 मामले दर्ज किए गए हैं. दूसरे चरण के मतदान केंद्रों की संख्या 4830 है.

बिहार में होने वाले पहले चरण के चुनाव में पूर्वी बिहार की 16 सीटों पर मतदान होगा. 28 तारीख को होने वाला मतदान मैदान के महारथियों के लिए सुपर ओवर की तरह होगा. दरअसल, 16 सीटों में अभी आठ पर एनडीए और आठ पर महागठबंधन का कब्जा है. जदयू-भाजपा अपनी सरकार बनाए रखने के लिए आठ से कम होना पसंद नहीं करेगी. वहीं राजद-कांग्रेस सरकार बनाने की चाहत में आठ से ज्यादा का स्कोर जरूर करना चाह रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज