लाइव टीवी

बिहार में फिर दहेज की बली चढ़ी एक विवाहिता

ETV Bihar/Jharkhand
Updated: November 9, 2017, 11:00 AM IST

शराबबंदी के बाद बिहार मे दहेज प्रथा के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है. लेकिन दहेज प्रथा के अभियान का हश्र भी शराबबंदी की तरह ही होता दिखा रहा है.दहेज के नाम पर विवाहित महिलाओं को जलाने व उन्हें मारने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है.

  • Share this:
शराबबंदी के बाद बिहार मे दहेज प्रथा के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है. लेकिन दहेज प्रथा के अभियान का हश्र भी शराबबंदी की तरह ही होता दिखा रहा है.दहेज के नाम पर विवाहित महिलाओं को जलाने व उन्हें मारने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है.

ऐसी ही एक घटना बुधवार को बेतिया में सामने आई जब दहेज के दानवों ने उत्तर प्रदेश की बेटी की गला दबाकर हत्या कर दी.यूपी के कुशीनगर के रहने वाले ललन गिरी ने लाखों रुपए खर्च कर अपनी दूसरी बेटी को दुल्हन बना कर डोली मे विदा किया.

आठ साल पहले उन्होंने बेतिया के नौरंगाबाग के रहने वाले जयनंदन गिरी के पुत्र पप्पु गिरी से धूमधाम से शादी तो कर दी लेकिन उन्हें क्या पता था कि दहेज के दानव उनकी बेटी को दहेज की बली चढ़ा देंगे. जिस पिता ने अपनी बेटी को डोली मे बिठाया था आज वही ललन गिरी अपनी बेटी के अर्थी को कंधा दे रहा है.

दरअसल मृत नीतू के पति व उसके ससुराल वाले हमेशा पैसे की मांग करते थे और इसके लिए हमेशा पिटाई भी करते थे. जिसकी शिकायत उसने कई बार अपने परिजनों से की थी. नीतू के भाई की मानें तो उसकी बहन की निर्मम तरीके से हत्या कर दी गई है और खुद उसके पति ने ही गला दबाकर उसकी हत्या की है.

इन सबसे के बीच नीतू के तीन छोटे छोटे बच्चे है जो इस बात से बिल्कुल अंजान थे कि उनकी मां के साथ हुआ क्या है.वहीं पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. पुलिस की माने तो हत्या करने के बाद पति समेत ससुराल वाले सभी फरार है घर में सिर्फ दो बच्चे हैं.

पुलिस ने बताया कि पुरे मामले की छानबीन की जा रही है. सरकार चाहे कितने भी अभियान क्यों न चला ले जबतक आम आदमी अपनी सोच में बदलाव नहीं लाता तबतक ऐसे अभियान की सफलता पर सवाल खड़े होते रहेंगे. इसलिए जरूरत है कि समाजिक जागरूकता के साथ साथ कानूनी व्यवस्था को सुदृढ़ करने की ताकि ऐसे लोगो को कड़ी से कड़ी सजा मिल सके और फिर से कोई नीतू दहेज की बली ना चढ़ सके.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पश्चिमी चंपारण से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 9, 2017, 11:00 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर