Nautan Assembly Seat: यहां से जीतकर केदार पांडेय बने थे बिहार के CM, 2015 में बीजेपी ने खोला खाता

पूर्व मुख्यमंत्री केदार पांडेय की वजह से चर्चा में रही है नौतन विस सीट.
पूर्व मुख्यमंत्री केदार पांडेय की वजह से चर्चा में रही है नौतन विस सीट.

Nautan Assembly Seat: कभी कांग्रेस का गढ़ मानी जाने वाली नौतन विधानसभा सीट (Nautan Assembly Seat) पर 2015 में बीजेपी (BJP) ने अपना परचम लहराया. बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री केदार पांडेय (Former CM Kedar Pandey) का चुनाव क्षेत्र होने की वजह से चर्चित सीटों में शुमार है नौतन.

  • News18 Bihar
  • Last Updated: September 21, 2020, 11:35 AM IST
  • Share this:
पश्चिमी चंपारण. कोरोना वायरस महामारी (COVID-19 Pandemic) के दौर में होने जा रहे बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) में नौतन का जिक्र न आए, ऐसा हो ही नहीं सकता. बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और दिग्गज कांग्रेस नेता केदार पांडेय (Former CM Kedar Pandey) के चुनाव क्षेत्र के रूप में चर्चित रही नौतन विधानसभा सीट (Nautan Assembly Seat) से वर्तमान में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेता नारायण प्रसाद विधायक हैं. 2015 के विधानसभा चुनाव में पहली बार भाजपा ने यहां से जीत हासिल की थी. उसके पहले यहां से जेडीयू (JDU) के प्रत्याशी जीतते रहे. कभी कांग्रेस का गढ़ रही नौतन विधानसभा सीट पर 1990 के पहले तक किसी और पार्टी का नाम शायद ही आता है. लेकिन जनता दल के उदय के साथ ही नौतन से कांग्रेस (Congress) का साथ छूटता चला गया.

लोजपा से हारे, बीजेपी में जीते
नौतन विधानसभा क्षेत्र के चुनाव परिणामों पर गौर करें तो एक रोचक बात सामने आती है. नौतन से वर्तमान में विधायक नारायण प्रसाद वर्ष 2010 में लोजपा के टिकट पर यहां से चुनाव लड़े थे. उस समय वे दूसरे स्थान पर रहे. उन्हें जेडीयू प्रत्याशी मनोरमा प्रसाद ने हरा दिया था. लेकिन पांच साल बाद 2015 में इन्हीं नारायण प्रसाद ने बीजेपी की तरफ से विधानसभा चुनाव के मैदान में जेडीयू नेता वैद्यनाथ प्रसाद महतो को करारी शिकस्त दी. गौर करने वाली बात यह है कि वैद्यनाथ प्रसाद महतो नौतन से 3 बार विधायक निर्वाचित हो चुके हैं. वर्ष 2000 के चुनाव में एसएपी की तरफ से उन्होंने जीत हासिल की और उसके बाद 2005 में फरवरी और नवंबर में हुए विधानसभा चुनावों में उन्होंने जेडीयू के टिकट पर चुनाव जीता था.

केदार पांडेय की वजह से चर्चित सीट
नौतन विधानसभा सीट की चर्चा स्वतंत्रता सेनानी और पूर्व विधायक केदार पांडेय की वजह से ज्यादा होती रही है. केदार पांडेय कांग्रेस के दिग्गज नेता थे, जिन्होंने नौतन से लगातार 4 बार चुनाव जीतने का रिकॉर्ड बनाया था. 1967 से लेकर 1980 तक के दौरान हुए विधानसभा चुनावों में केदार पांडेय ने लगातार जीत हासिल की. 70 के दशक के शुरुआती वर्षों में केदार पांडेय एक साल से कुछ ज्यादा समय तक बिहार के मुख्यमंत्री भी रहे. इसके बाद उन्हें केंद्र सरकार में मंत्री भी बनाया गया. इंदिरा गांधी की सरकार में केदार पांडेय मंत्री रहे.



कोरोनाकाल में हो रहे चुनाव के बीच भी नौतन विधानसभा क्षेत्र चर्चा में है. महागठबंधन के घटक दल रालोसपा की नजर इस सीट पर है. पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी रालोसपा 2020 के विधानसभा चुनाव में इस सीट पर अपना दावा ठोक रही है. गौरतलब यह है कि 2015 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी के प्रत्याशी ने जेडीयू उम्मीदवार को ही हराया था. इसलिए राजग में भी इस सीट को लेकर खींचातानी मचने के कयास लगाए जा रहे हैं. विभिन्न दलों के इन्हीं दावों की वजह से नौतन विधानसभा सीट पर होने वाले चुनाव के रोचक होने के आसार जताए जा रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज