होम /न्यूज /बिहार /वनकर्मी का भालू से सामना, घायल सुरेश 3 किमी पैदल चले, खून से लथपथ 8 घंटे का सफर...

वनकर्मी का भालू से सामना, घायल सुरेश 3 किमी पैदल चले, खून से लथपथ 8 घंटे का सफर...

जंगल में ड्यूटी के दौरान वनकर्मी पर भालू ने हमला कर दिया, जिसमें वह बुरी तरह घायल हो गए.

जंगल में ड्यूटी के दौरान वनकर्मी पर भालू ने हमला कर दिया, जिसमें वह बुरी तरह घायल हो गए.

Bihar News: वाल्मीकि टाइगर रिजर्व (Valmiki Tiger Reserve) के हरनाटांड़ वन क्षेत्र अंतर्गत नौरंगिया दोन परिसर में ड्यूटी ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट- मुन्ना राज
बागहा. वाल्मीकि टाइगर रिजर्व  (Valmiki Tiger Reserve) के हरनाटांड़ वन क्षेत्र अंतर्गत नौरंगिया दोन परिसर में ड्यूटी पर तैनात एक वनकर्मी  (Forest Worker) पर भालू  (Bear) ने हमला कर दिया, जिसमें वह बुरी तरह घायल हो गए हैं. घायल वनकर्मी की पहचान गोबरहिया थाना क्षेत्र के गर्दी दोन निवासी सुरेश महतो के रूप में कई गई है, जो हरनाटांड़ वन क्षेत्र के नौरंगिया वन परिसर में पेट्रोलिंग पार्टी के रूप में कार्यरत है. घायल अवस्था में उन्हें इलाज के लिए पीएचसी हरनाटांड़ में भर्ती कराया गया है.

इस संबंध में जानकारी देते हुए हर्नाटांड़ वन क्षेत्र के वनपाल श्रवण कुमार सोरेन ने बताया कि पीपी सुरेश महतो नौरंगिया दोन परिसर के भुट्टी खोला व शक्ति नाला के इंडो-नेपाल बॉर्डर 61 नंबर पिलर के पास एपीसी में ड्यूटी पर तैनात थे. वह सात सदस्यीय टीम के साथ ट्रांजेक्ट लाइन का सर्वे कर रहे थे. इसी क्रम में अपने दो बच्चों के साथ विचरण कर रही मादा भालू ने पंक्ति में आगे चल रहे पीपी सुरेश महतो पर अचानक हमला बोल दिया, जिसमें वो बुरी तरह घायल हो गए. हालांकि इस दौरान साथी वनकर्मियों की मदद से उन्हें बचाया गया.

वनकर्मी मुख्य वन पथ से करीब 15 किमी से भी अधिक दूरी पर घने जंगल के भीतर ड्यूटी में थे, जिसकी वजह से घायल को गाड़ी तक लाने में आठ घंटे लग गए. इस दौरान जंगल में रास्ता पतला होने की वजह से करीब तीन घंटे तक तो घायल अवस्था में सुरेश पैदल ही चले. लेकिन, जब खून काफी बह गया तो साथी वनकर्मियों ने उन्हें कपड़े व लकड़ी का स्ट्रेचर बनाकर वन पथ तक लेकर गए.

घायल वनकर्मी को पीएचसी हरनाटांड़ में भर्ती कराया गया. यहां मौजूद चिकित्सक डॉ. इरशाद आलम व डॉ. राजेन्द्र काजी ने घायल का प्राथमिक उपचार कर रेफर कर दिया है. इस दौरान चिकित्सकों ने बताया कि वनकर्मी को बाएं हाथ में गहरा जख्म है, जबकि सिर पर दाएं भाग में गहरा जख्म है. खून काफी गिर गया है. ऐसे में उन्हें तत्काल बेहतर उपचार के लिए अनुमंडलीय अस्पताल रेफर किया गया है.

Tags: Bihar News in hindi, Tiger reserve, Valmiki Tiger Reserve

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें