होम /न्यूज /बिहार /VTR: शिकार करने आए बाघ को बचानी पड़ी खुद की जान, भागना पड़ा

VTR: शिकार करने आए बाघ को बचानी पड़ी खुद की जान, भागना पड़ा

घायल गाय

घायल गाय

वीटीआर के गोवर्धना वन क्षेत्र में बुधवार को पालतू मवेशियों के झुंड पर एक बाघ ने अचानक से हमला कर दिया. इससे एक गाय जख्म ...अधिक पढ़ें

    रिपोर्ट -आशीष कुमार

    पश्चिम चम्पारण. सुनने में यह अटपटा जरूर लगेगा, लेकिन है यह पूरी तरह से सच्ची घटना. आपने कभी न सुना होगा न देखा होगा कि कोई बाघ शिकार को अपनी गिरफ्त में ले लेने के बाद लाठी-डंडे की मार के डर से घायल शिकार को तड़पता छोड़ दुम दबाकर भाग गया हो.

    बीते बुधवार को वाल्मीकि व्याघ्र परियोजना (VTR ) के जंगल क्षेत्र के ग्रामीण इलाके में ऐसा ही देखने को मिला. वीटीआर के गोवर्धना वन क्षेत्र के शेरवा मस्जिदवा गांव के सरेह में बुधवार को पालतू मवेशियों के झुंड पर एक बाघ ने अचानक से हमला कर दिया. इससे एक गाय जख्मी हो गई. यह देख वहां मौजूद दर्जनभर चरवाहों ने हिम्मत दिखाई और एकजुट होकर गाय पर हमला कर रहे बाघ को लाठी से पीटना शुरू कर दिया. साथ ही वहां सरेह में काम कर रहे लोग जोर-जोर से हल्ला भी करने लगे. इसके बाद खुद को चारों ओर से घिरता देख बाघ अपने शिकार को तड़पता छोड़ गन्ने की खेत में छिप गया.

    बाघ की ट्रैकिंग कर रहे वन कर्मी

    बता दें कि गाय शेरवा मस्जिदवा गांव निवासी नंदू यादव की थी. बाघ के हमले के बाद ग्रामीण स्तर पर गाय का इलाज किया जा रहा है. उधर, घटना की सूचना पर पहुंचे वन कर्मियों ने एक बार फिर बाघ की ट्रैकिंग शुरू कर दी है. वन कर्मियों ने बताया कि प्रयास किया जा रहा है कि बाघ ग्रामीण इलाकों को छोड़कर जंगल की तरफ चला जाए.

    एक बार फिर खौफ के साए में जीने को मजबूर ग्रामीण

    गौरतलब है कि ग्रामीण इलाकों की तरफ एक बार फिर से बाघ की मौजूदगी तथा मवेशियों पर उसके हमले ने आसपास के गांवों के लोगों को डर के साए में जीने के लिए मजबूर कर दिया है. दो माह पहले ही यहां एक बाघिन ने आतंक मचा रखा था. कई लोगों को मौत के घाट उतारने के बाद एसटीएफ के जवानों ने बाघिन को मार गिराया था. तब भी आदमखोर बाघिन की वजह से ग्रामीणों ने खुद को घरों में कैद कर रखा था. बावजूद इसके कई लोगों ने अपनी जान गंवा दी. एक बार फिर ठीक वैसी ही स्थिति होने का खौफ ग्रामीणों को सताने लगा है.

    ग्रामीणों ने बताया कि गाय पर हमला करने वाला बाघ शेरवा मस्जिदवा सरेह के एक गन्ने खेत में छिपा हुआ है. इस सरेह के आसपास कई गांव हैं. गांव से सटे खेत में बाघ होने के कारण लोगों का सरेह में जाना मुश्किल हो रहा है. सरेह में बाघ के होने के कारण सीरिसिया, शेरवा मस्जिदवा, शेरपुर, मटियरिया आदि गांव के लोग डरे और सहमे हुए हैं. ऐसे में वन विभाग की टीम मौके पर पहुंच स्थिति को सामान्य करने की कोशिश कर रही है.

    Tags: Bihar News in hindi, Champaran news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें