होम /न्यूज /बिहार /

Bihar: नमक और बालू मिलाकर बनाया जा रहा था नकली खाद, Made In UP वाले बैग में हो रही थी पैकिंग

Bihar: नमक और बालू मिलाकर बनाया जा रहा था नकली खाद, Made In UP वाले बैग में हो रही थी पैकिंग

Bihar News: बिहार के बगहा में नकली खाद बनाकर ब्रांडेड कंपनियों के नाम पर बेचने का खुलासा हुआ है.

Bihar News: बिहार के बगहा में नकली खाद बनाकर ब्रांडेड कंपनियों के नाम पर बेचने का खुलासा हुआ है.

Bihar News: बगहा नगर के बनकटवा मोहल्ले में पुलिस ने नकली खाद का बनाए जाने के धंधे का खुलासा किया. बताया जाता है कि यहां पर नकली खाद का भंडारण एवं पैकिंग किया जा रहा था. जानकारी के अनुसार ये लोग नमक और बालू मिलकर निकली यूरिया बनाते थे जिसे ब्रांडेड कंपनियों के बैग में पैक करके बाजार में बेचा जाता था.

अधिक पढ़ें ...

बगहा. बगहा नगर के बनकटवा मोहल्ले में पुलिस ने नकली खाद का बनाए जाने के धंधे का खुलासा किया. मिली जानकारी के अनुसार नगर के वार्ड 19 स्थित वृजेश गुप्ता, नरेश गुप्ता, रमेश गुप्ता एवं अवधेश गुप्ता के घर पर गुरुवार की देर शाम छापेमारी कर नकली खाद जब्त किया गया है. बताया जाता है कि यहां पर नकली खाद का भंडारण एवं पैकिंग किया जा रहा था. जानकारी के अनुसार ये लोग नमक और बालू मिलकर निकली यूरिया बनाते थे जिसे ब्रांडेड कंपनियों के बैग में पैक करके बाजार में बेचा जाता था.

इस बारे में अधिक जानकारी देते हुए एसडीएम दीपक कुमार मिश्र ने बताया कि गुप्त सूचना मिली कि यहां नकली तरीके से खाद का निर्माण किया जा रहा है. मामले को गंभीरता से लेते हुए तत्काल टीम बनाकर छापेमारी की गयी जिसके बाद सूचना सही पायी गयी.

मेड इन यूपी वाले बोरे में कर रहे थे पैकिंग 

उन्होंने बताया कि गिरफ्तार आरोपी आवास पर ही खाद-यूरिया का निर्माण कर रहे थे, जहां से चार ट्रैक्टर डीएपी को बरामद किया गया जो कि नकली था. मेड इन यूपी लगे बोरा में पैक कर उसको बेचा जा रहा था. इनके पास पास से यूरिया बनाने की सामग्री भी मिली है. बगहा एक व बगहा दो प्रखंड के प्रखंड कृषि पदाधिकारी विस्तृत रुप से जांच कर रहे हैं कि किन किन वस्तुओं को मिलाकर नकली यूरिया आदि बनाने का काम चल रहा था. साथ ही एसडीएम ने बताया कि नकली डीएपी को बनाकर कहां बेचा जा रहा था, इसका खुलासा अभी नहीं हो पाया है. इसकी जांच करायी जा रही है.

सिलाई करने वाली मशीन व खाली बोरा बरामद
छापेमारी के दौरान पुलिस को नकली खाद पैक करने के लिए सभी ब्रांड का बोरा और सिलाई मशीन भी मिला है. बताया जाता है कि यहां से जितने भी उत्तम क्वालिटी के ब्रांड है सभी ब्रांड की पैकिंग हो रही थी, जिसमें इफको, आईपीएल, एमओपी, उत्सव, डीएपी शामिल है. यहां नमक मिला कर खाद बनाया जा रहा था. वहीं उसका भंडारण भी बड़े पैमाने पर किया जा रहा था. कृषि पदाधिकारी के एन सिंह ने बताया कि यहां सभी बड़े ब्रांडों के नकली खाद का निर्माण किया जा रहा था. नगर थाना अध्यक्ष आनंद कुमार सिंह ने बताया कि छापेमारी के दौरान कारोबारी फरार हो गया है. हालांकि 2 लोगों को पूछताछ के लिए थाना लाया गया है.

Tags: Bihar police, Farmer protest for fertilizer, Urea production

अगली ख़बर