होम /न्यूज /बिहार /Bettiah: पुलिस कस्टडी में युवक की हुई मौत के लिए मधुमक्खी कसूरवार! जानें बेतिया में हुए बवाल का मामला

Bettiah: पुलिस कस्टडी में युवक की हुई मौत के लिए मधुमक्खी कसूरवार! जानें बेतिया में हुए बवाल का मामला

बेतिया में पुलिस कस्टडी में हुए एक शख्स की मौत के बाद पूरे इलाके में हंगामा मच गया है.

बेतिया में पुलिस कस्टडी में हुए एक शख्स की मौत के बाद पूरे इलाके में हंगामा मच गया है.

Bettiah News: बिहार के बेतिया में पुलिस कस्टडी में हुए एक शख्स की मौत के बाद पूरे इलाके में हंगामा मच गया है. वहीं पुलि ...अधिक पढ़ें

बेतिया. बिहार के बेतिया (Bettiah) में पुलिस कस्टडी में हुए एक शख्स की मौत (Custodial Death) के बाद हंगामा मच गया है. वहीं, पुलिस ने इस मामले में अपनी अलग थ्योरी पेश की है. पुलिस के मुताबिक, शख्स की मौत मधुमक्खी के काटने से हुई है. इस अटपटे बयान के बाद बवाल इतना बढ़ा कि पुलिस के लिए मधुमक्खी अब सिर का दर्द बन चुकी है. मधुमक्खी के कारण ना सिर्फ भारी बवाल मचा बल्कि दो लोगों की जान भी चली गई. आपको भी यह सुनने में थोड़ा अटपटा लग रहा होगा लेकिन बेतिया के बलथर में हुए बवाल के पीछे की हकीकत कुछ इसी तरह है.

बेतिया एसपी ने कहा कि थाना परिसर में मधुमक्खी का का छत्ता लगा था, जहां मधुमक्खी के काटने से युवक की तबीयत खराब हो गई. ऐसे में अस्पताल ले जाने के दौरान युवक की मौत हो गई. लेकिन गांव में ये अफवाह उड़ गई कि पुलिस की पिटाई से युवक की मौत हो गई. इस बात से गांव के लोग उग्र हो गए और थाने पर हमला बोल दिया. गुस्साए लोगों ने फायरिंग की और तोड़फोड़ कर दी.

बेतिया जिला मुख्यालय से लगभग 35 किलोमीटर दूर इंडो नेपाल सीमा पर स्थित बलथर थाना में जो भी कुछ हुआ उसकी कल्पना न पुलिसवालों ने की थी और न ही यहां के लोगों ने. होली के रंग में भंग उस वक्त पड़ गया, जब पुलिस प्रशासन की टीम ने एक डीजे चालक को पकड़ कर थाने ले आई. होली को शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराने के लिए पुलिस ने भले ही डीजे चालक को पकड़ लिया. लेकिन उन्हें कहा पता था कि उनकी शांति न सिर्फ भंग होने वाली है बल्कि बड़ा बवाल भी मचने वाला है. पुलिस कस्टडी में डीजे चालक अनिरुद्ध की संदेहास्पद स्थिति में मौत हो गई. इसके बाद से ही यहां हंगामा जारी है.

पुलिस की पिटाई में हुई मौत का आरोप लगाकर भी भीड़ ने 7 घंटे तक थाना को कब्जे में रखा. इतना ही नहीं थाना जलाने के साथ गाड़ियों भी फूंक डाली. इस दौरान एक हवलदार की भी मौत हो गई. हवलदार की मौत के बारे में घटनास्थल पर मौजूद पुलिसकर्मी ने बताया कि रामरतन राय की हत्या भीड़ ने उनकी ही बंदूक छीन कर गोली मारकर की है.

हंगामा, आगजनी और मौत के बाद अब पुलिस कार्रवाई में जुट गई है

सैकड़ों की संख्या में पहुंची पुलिस टीम देर रात से छापेमारी कर उपद्रवियों को गिरफ्तार करने में जुट गई है. अबतक 14 से अधिक लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं. पुलिस लोगों को घर से उठा रही है.वहीं हिरासत में लिए जा रहे युवकों का कहना है कि पुलिस ने एक ही परिवार के चार-चार लोगों को उठा लिया, जिनकी निर्मम तरीके से पिटाई भी की जा रही है. किसी के हाथ टूट गया है तो किसी के पैर से खून निकल रहा है. कोई डायबिटीज का मरीज है जो खुद निर्दोष बता कर न्याय की गुहार लगा रहा है. बवाल के बाद पुलिस के उग्र रूप को देख कर अब बलथर और आर्या नगर गांव में सन्नाटा पसरा हुआ है. गांव छोड़कर लोग भाग गए है. मृतक अनिरुद्ध के घर पर भी कोई परिवार को ढांढस देने वाला भी नहीं है.

मधुमक्खी की भूमिका की भी होगी जांच

आखिर बीस फीट ऊपर थाने की दीवार में लगे मधुमक्खी ने सिर्फ अनिरुद्ध को ही क्यों काटा. क्या सच मे उसकी मौत मधुमक्खी (Bee Attack Killed Man In Custody) के काटने से हुई है या फिर पुलिस अपनी किसी गलती को छूपाने के लिए सारा दोष मधुमक्खी पर मढ रही है. सवाल यह भी है कि होली में डीजे बजाने पर प्रतिबंध लगाने का आदेश किसने दिया और क्यों पुलिस डीजे और उसके चालक को पकड़ कर थाने लाई जिसके कारण इतना बड़ा बवाल हुआ. ऐसे कई सवाल है जिसका जवाब फिलहाल न तो प्रशासन के पास है, जिसके कारण एक ड्राइवर का परिवार बिखड़ गया और न ही उन लोगों के पास जिनकी वजह से एक हवलदार की मौत हो गई.

Tags: Bihar News in hindi, Bihar police, Death in police custody

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें