लाइव टीवी

पिता नहीं चाहता था हो बेटी का अंतिम संस्कार, चिता से अधजला हाथ निकालकर पहुंचा थाने

News18 Bihar
Updated: September 26, 2019, 11:03 AM IST
पिता नहीं चाहता था हो बेटी का अंतिम संस्कार, चिता से अधजला हाथ निकालकर पहुंचा थाने
रामनाथ ने अपनी शिकायत में कहा कि वह नहीं चाहते थे कि अंतिम संस्कार किया जाए और छीना-झपटी में चिता से उन्होंने बेटी का अधजला हाथ निकाल लिया. (प्रतीकात्मक फोटो)

पुलिस (Bihar Police) को दी शिकायत में मृतक महिला के पिता ने कहा कि उन्होंने अपनी बेटी संगीता की शादी 10 साल पहले की थी. इस मामले में महिला के ससुराल पक्ष के पांच लोगों को आरोपी बनाया गया है.

  • News18 Bihar
  • Last Updated: September 26, 2019, 11:03 AM IST
  • Share this:
बेतिया. बिहार (Bihar) के पश्चिम चंपारण (Pashchim Champaran) जिले में मंगलवार की रात एक विवाहिता की उसके ससुराल वालों ने कथित तौर पर हत्या (Murder) कर दी. अंतिम संस्‍कार के दौरान मृतक महिला के पिता वहां पहुंच गए. वह मृत बेटी का अधजला हाथ लेकर शिकायत दर्ज कराने थाने पहुंच गए.

लौरिया थानाध्यक्ष रणधीर कुमार भट्ट ने बुधवार को बताया कि महिला का नाम संगीता देवी था और वह भुटकुन राम की पत्नी थीं. उन्होंने बताया कि इस मामले में संगीता के पिता रामनाथ राम ने अपने दामाद सहित उसके परिवार के पांच सदस्यों के खिलाफ प्राथमिकी (FIR) दर्ज कराई है.

आरोपियों की तलाश जारी
भट्ट ने बताया कि पुलिस मामले की छानबीन कर रही है. घटना के बाद आरोपी फरार हो गए हैं. पुलिस उनकी तलाश में जुटी है. साठी थाना के तहत आने वाले परोरहा गांव निवासी रामनाथ ने पुलिस को दी शिकायत में कहा कि उन्होंने अपनी बेटी संगीता की शादी 10 साल पहले सूअरछाप गांव निवासी भुटकुन राम के साथ धूमधाम से की थी. उनकी बेटी को आठ और सात साल के दो बेटे भी हैं.

पांच लोगों ने मिलकर की हत्या
रामनाथ ने आरोप लगाया है उनकी बेटी के ससुराल वाले दहेज की मांग करते हुए उसे प्रताड़ित कर रहे थे. रामनाथ ने आरोप लगाया कि मंगलवार की रात संगीता के पति, देवर साहेब, संजीत, दीपू और ससुर ने मिलकर उसकी हत्या कर दी. उन्होंने आरोप लगाया कि संगीता की हत्या करने की जानकारी मिलने पर वह सूअरछाप गांव स्थित श्मशान पहुंचे और शव को जलाए जाने का विरोध करने पर उनकी बेटी के ससुराल वालों ने उनके साथ मारपीट की.

पिता नहीं चाहते थे कि हो अंतिम संस्काररामनाथ ने अपनी शिकायत में कहा कि वह नहीं चाहते थे कि अंतिम संस्कार किया जाए और छीना-झपटी में चिता से उन्होंने बेटी का अधजला हाथ निकाल लिया और उसे लेकर थाने पहुंचे, ताकि इस अवशेष से उनकी बेटी की मौत के कारणों का पता चल सके.

(एजेंसी इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें- पार्टी से लौट रहे दोस्तों को मारी गोली, 1 की मौत दूसरे ने भागकर बचाई जान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पश्चिमी चंपारण से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 26, 2019, 8:57 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर