होम /न्यूज /बिहार /

बिहार: सुपौल, अररिया, बेतिया, गोपालगंज, मोतिहारी समेत 9 जिलों में बाढ़ की आशंका, NDRF की 10 टीमें तैनात 

बिहार: सुपौल, अररिया, बेतिया, गोपालगंज, मोतिहारी समेत 9 जिलों में बाढ़ की आशंका, NDRF की 10 टीमें तैनात 

बिहार के 9 जिलों में बाढ़ के खतरे को देखते हुए एनडीआरएफ की टीमें तैनात की गई हैं.

बिहार के 9 जिलों में बाढ़ के खतरे को देखते हुए एनडीआरएफ की टीमें तैनात की गई हैं.

Flood In Bihar: एनडीआरएफ के कमांडेंट विजय सिन्हा ने बताया कि बिहार राज्य आपदा प्रबंधन विभाग की मांग पर NDRF की कुल 10 टीमें अररिया, सुपौल, किशनगंज, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, गोपालगंज, मोतिहारी, बेतिया के अलावा पटना जिले के कई इलाकों में तैनात की जा रही हैं.

अधिक पढ़ें ...
पटना. नेपाल में हो रही लगातार बारिश से बिहार की कई नदियों का जलस्तर बढ़ता जा रहा है. जून महीने में इतनी बारिश का अंदाजा किसी को भी नहीं था. बावजूद इसके बिहार सरकार ने अपनी पूरी तैयारी होने का दावा किया है. इस बीच संभावित बाढ़ के खतरे के मद्देनजर NDRF की 9वीं वाहिनी की 10 टीमों को बिहार के अलग-अलग जिलों में तैनात किया जा रहा है.



एनडीआरएफ के कमांडेंट विजय सिन्हा ने बताया कि बिहार राज्य आपदा प्रबंधन विभाग के मांग पर तथा बल मुख्यालय एनडीआरएफ नई दिल्ली की सहमति से 9वीं वाहिनीं NDRF की कुल 10 टीमें बिहार राज्य के अररिया, सुपौल, किशनगंज, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, गोपालगंज, मोतिहारी, बेतिया के अलावा पटना जिले के कई इलाकों में तैनात किये जा रहे हैं.

वर्तमान में बेतिया, अररिया, किशनगंज, दरभंगा, मोतिहारी,  गोपालगंज तथा झारखण्‍ड के जमशेदपुर जिले में टीमों की तैनाती की जा चुकी है. बाकी अन्य जिलों में जरूरत के हिसाब से जल्दी ही एनडीआरएफ टीमें तैनात कर दी जाएगी. सभी टीमें अत्‍याधुनिक बांढ बचाव उपकरण, कटिंग टूल्स और उपकरण, संचार उपकरण, मेडिकल फर्स्ट रेस्‍पांडर किट, डीप डाइविंग सेट, इनफ्लैटेबल लाइटिंग टावर से लैस हैं.

टीमों में कुशल गोताखोर तैराक और मेडिकल स्टाफ मौजूद हैं, जो कि बाढ़ आपदा के दौरान राहत व बचाव कार्य में लोगों को हर संभव मदद पहुंचाने में सक्षम हैं और बचावकर्मी सदैव तत्‍पर रहेंगे.
बाढ़ से पहले NDRF की सभी टीमें सम्‍बंधित तैनाती वाले जिलों में जन जागरूकता अभियान तथा आपदा विषय पर स्कूलों में प्रशिक्षण और मॅाक ड्रील करेगी आम जनता को बाढ़ से पहले की तैयारी बाढ़ बचाव की जानकारी, सर्पदंश प्रबंधन, अस्पताल पूर्व चिकित्सा विषयों पर जानकारी तथा सुरक्षात्मक कार्यवाहियों के बारे में महत्वपूर्ण जानकारियां देगी.

उन्होंने आगे कहा कि इस वर्ष बाढ़ आपदा के दौरान कोरोना वायरस महामारी को भी हमारे बचावकर्मी गंभीरता से लेंगे. सभी कार्मिकों को कोरोना वायरस महामारी को ध्यान में रखते हुए PPE किट, मास्‍क,  फेस शील्‍ड,  फैब्रीकेटेड फेस हुड कवर, सैनिटाइजर, हैंड वॉश आदि दिया गया है. बाढ़ बचाव ऑपरेशन के दौरान एनडीआरएफ के बचावकर्मी कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए सुरक्षात्मक दिशानिर्देश तथा प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करेंगे.

उन्होंने कहा कि आम जनता को भी कोविड-19 सुरक्षात्मक उपायों का पालन करने के लिए जागरूक व प्रोत्साहित करेंगे. एनडीआरएफ के सभी टीम कमांडर संबंधित जिलों में जिला प्रशासन से कुशल समन्‍वय व तालमेल स्थापित कर बाढ़ आपदा के दौरान आपरेशनल जिम्‍मेदारियों दृढ़ता तथा व्‍यवसायिक दक्षता के  साथ अंजाम देंगे.

Tags: Bihar flood, Bihar floods, Bihar News, NDRF, Patna floods

अगली ख़बर