Home /News /bihar /

gandak river of bihar is new spot for crocodiles breeding and hatching bramk

बिहार में गंडक नदी बना घड़ियालों का नया ठिकाना, 500 के करीब पहुंची संख्या

बिहार के चंपारण स्थित गंडक नदी में छोड़े जा रहे घड़ियाल

बिहार के चंपारण स्थित गंडक नदी में छोड़े जा रहे घड़ियाल

Crocodiles In Gandak River: गंडक नदी के अधिवास क्षेत्र में वाइल्ड लाइफ ट्रस्ट ऑफ इंडिया वन विभाग और स्थानीय युवकों-मछुआरों की मदद लेकर घड़ियाल के अंडों से प्रजनन कराकर संख्या को बढ़ा रहा है. घड़ियालों के प्रजनन के मामले में चंबल नदी के बाद गंडक देश की दूसरी नदी बन गई है.

अधिक पढ़ें ...

बगहा. बिहार में गंडक नदी घड़ियालों का सुरक्षित ठिकाना बन गया है. वाइल्ड लाइफ ट्रस्ट ऑफ इंडिया द्वारा ग्रामीणों और स्थानीय मछुआरों के सहयोग से सैकड़ों घड़ियाल की हैचिंग कराने के बाद उन्हें गण्डक नदी में छोड़ा गया, जिसके बाद घड़ियालों की संख्या बढ़कर तकरीबन 500 पहुंच गई है. वाइल्ड लाइफ ट्रस्ट ऑफ इंडिया के मुताबिक गण्डक नदी घड़ियालों के लिए एक बेहतर अधिवास साबित हो रहा है

2016 से घड़ियालों के संरक्षण के लिए काम कर रही WTI

इंडो-नेपाल सीमा से होकर गुजरने वाली गण्डक नदी घड़ियालों के लिए बेहतर अधिवास साबित हो रहा है. वर्ष 2016 से लेकर अब तक वाइल्ड लाइफ ट्रस्ट ऑफ इंडिया और वन एवं पर्यावरण विभाग बिहार द्वारा घड़ियाल के 350 से ज्यादा अंडों को संरक्षित कर उसका हैचिंग कराया जा चुका है, लिहाजा वाल्मीकिनगर से सोनपुर तक घड़ियालों की संख्या में तेजी से इजाफा हुआ है. वाइल्ड लाइफ ट्रस्ट ऑफ इंडिया के अधिकारी सुब्रत बहेरा ने बताया कि गण्डक नदी किनारे पता कर पाना मुश्किल होता है कि घड़ियालों ने रेत में कहां अंडा दिया है नतीजतन इसके लिए WTI और फारेस्ट डिपार्टमेंट ने स्थानीय ग्रामीणों और मछुआरों को प्रशिक्षित किया और अंडों के संरक्षण व उसके प्रजनन का गुर सिखाया.

5 जगहों पर संरक्षित अंडों से निकले 148 घड़ियाल
वर्ष 2022 में गण्डक नदी के किनारे वाल्मीकिनगर से रतवल पूल तक 5 जगह घड़ियालों के अंडे मिले. इन अंडों को मछुआरों ने संरक्षित किया और फिर उसकी हैचिंग करायी गई जिसके बाद तीन जगहों के अंडों से सुरक्षित प्रजनन हुआ जबकि दो जगहों के अंडे बर्बाद हो गए. इन तीन जगहों के अंडों का प्रजनन कर 148 घड़ियाल के बच्चों को गण्डक नदी में छोड़ा गया. घड़ियालों के प्रजनन के मामले में चंबल के बाद गंडक नदी देश की दूसरी नदी बन गई है, लिहाजा WTI और वन एवं पर्यावरण विभाग भविष्य में भी घड़ियालों के प्रजनन के लिए ज्यादा से ज्यादा स्थानीय लोगों व मछुआरों को प्रशिक्षित करेगी और हैचिंग करा इनकी संख्या बढ़ाने की दिशा में प्रयास किया जाएगा.

Tags: Bihar News, Crocodile

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर