गुजरात से लौटे बिहारी मजदूरों के लिए रोजगारपरक प्रशिक्षण की व्यवस्था करेगी सरकार

पिटाई और हमले के बाद बगहा पहुंचे मजदूरों से ऑल इंडिया महिला फुटबाल एसोसिएसन की चेयरमैन अपर्णा सिंह उर्फ बहूरानी ने बगहा के अनुमंडलीय मैदान में मुलाकात की.

News18 Bihar
Updated: October 12, 2018, 10:41 PM IST
गुजरात से लौटे बिहारी मजदूरों के लिए रोजगारपरक प्रशिक्षण की व्यवस्था करेगी सरकार
गुजरात से लौटे मजदूर
News18 Bihar
Updated: October 12, 2018, 10:41 PM IST
गुजरात से भागकर बिहार के बगहा में आए मजदूरों का दर्द सामने आया है. मजदूरों से रोजगार तो छिना ही उनका पसीना बहाकर कमाया गया रुपया भी डूब गया. जान बचाकर सुरक्षित भाग तो आए मगर अब परिवार बेरोजगारी का दंश झेलने को मजबूर हैं. बिहार सरकार ने ऐसे बिहारी मजदूरों की सुध लेना शुरू कर दिया है. नीतीश सरकार ने मजदूरों के लिए रोजगारपरक प्रशिक्षण की व्यवस्था करने का फैसला किया है.

रोजी-रोजगार की तलाश में हर साल हजारों मजदूर बिहार से पलायन करते हैं. ग्रामीण इलाकों से भी भारी संख्या में मजदूर देश के अन्य राज्यों में जाकर रोटी का जुगाड़ करते हैं. लेकिन बीते 28 सितंबर के बाद जो हालात गुजरात में बने हैं, उससे मजदूरों में भय व्याप्त हो चुका है. पिटाई और हमले के बाद बगहा पहुंचे मजदूरों से ऑल इंडिया महिला फुटबाल एसोसिएसन की चेयरमैन अपर्णा सिंह उर्फ बहूरानी ने बगहा के अनुमंडलीय मैदान में मुलाकात की. बहूरानी ने सभी मजदूरों का माल्यार्पण किया और उनका हौसला बढ़ाते हुए कहा कि हमें यह गर्व है कि हम बिहारी हैं. अगर बिहारी मजदूरों का पलायन होना शुरू जाए तो फिर देश के कई अन्य राज्यों के व्यवसायिक प्रतिष्ठानों में ताला लटक जाएगा.

बगहा के एसडीएम घनश्याम मीणा ने बताया कि गुजरात से लौटे बिहारी मजदूरों के लिए सरकार रोजगारपरक प्रशिक्षण की व्यवस्था करेगी. ताकि मजदूरों को रोजगार के लिए अन्य राज्यों का रुख न करना पड़े. एसडीएम ने बताया कि मजदूरों को कुशल विकास मिशन के तहत प्रशिक्षण देकर उनके रोजगार की व्यवस्था कराई जाएगी. ताकि वे स्वरोजगार कर जीविकोपार्जन कर सकें.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर