बेतिया के कुख्यात अनिल सहनी की हत्या, हत्‍यारों ने घर में घुसकर मारी 8 गोलियां
West-Champaran News in Hindi

बेतिया के कुख्यात अनिल सहनी की हत्या, हत्‍यारों ने घर में घुसकर मारी 8 गोलियां
बिहार के बेतिया में कुख्यात की हत्या (सांकेतिक फटो)

थानाध्यक्ष ने बताया कि मृतक अनिल सहनी (Anil Sahni) के खिलाफ मझौलिया, जगदीशपुर, और पूर्वी चंपारण के पहाड़पुर थाना में कई मामले दर्ज हैं. उसे पुलिस काफी दिन से तलाश रही थी.

  • Share this:
बेतिया. बेतिया में अपराधियों का मनोबल सातवें आसमान पर है. रविवार को जहां अपराधियों ने एक पुलिसकर्मी को गोली मारकर घायल कर दिया, वहीं देर रात एक कुख्यात की गोली मारकर हत्या कर दी गई. सबसे हैरत की बात तो यह है कि कुछ घंटे के भीतर ही मझौलिया थाना क्षेत्र में अपराधियों ने दोनों घटना को अंजाम दिया है. गोलियों का शिकार हुआ कुख्यात अनिल सहनी का आपराधिक इतिहास रहा है और उसका भाई मुखी सहनी भी कुख्यात अपराधी है.

बताया जा रहा है कि रविवार की देर रात मझौलिया थाना क्षेत्र के लाल सरैया स्थित उसके घर पर ही अपराधियों ने गोली मार दी, जिसमें उसकी मौके पर ही उसकी मौत हो गई. मझौलिया सहित कई थानों में उसके खिलाफ हत्या, लूट और मारपीट के मामले दर्ज थे. अनिल साहनी कई मामलों में फरार चल रहा था. अपराधियों ने हत्या करने के दौरान उसे 8 गोलियां मारी हैं, ताकि बचने की कोई उम्‍मीद न रहे.

मृतक मूल रूप से पहाड़पुर के नोनिया गांव का रहनेवाला था, लेकिन लाल सरैया में उसने एक घर बना रखा था. इस बाबत मझौलिया थानाध्यक्ष कृष्ण मुरारी गुप्ता ने बताया कि इस घटना को उसके किसी करीबी ने ही अंजाम दिया है. ऐसा इसलिए लग रहा है, क्योंकि वह घर बंद करके रहता था और किसी करीबी के लिये ही उसने दरवाजा खोला होगा जिसके बाद अपराधियों ने एक के बाद गोलियां दाग दी जिसमे मौके पर ही उसकी मौत हो गई.



थानाध्यक्ष ने बताया कि उसके खिलाफ मझौलिया, जगदीशपुर, और पूर्वी चंपारण के पहाड़पुर थाना में कई मामले दर्ज हैं. अनिल सहनी के पिता धर्मन की भी हत्या लगभग 30 वर्ष पहले अपराधियों ने गला रेत कर की थी. बदले की भावना से धर्मन के बड़े पुत्र मुखी सहनी अपराध की दुनिया मे कदम रखा था. फिलहाल शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भेज दिया है और मामले की छानबीन शुरू कर दी गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज