बड़ी खबर! अब बिहार के सभी नौ मेडिकल कॉलेज एवं अस्पतालों में कोरोना पीड़ितों का इलाज होगा
Gaya News in Hindi

बड़ी खबर! अब बिहार के सभी नौ मेडिकल कॉलेज एवं अस्पतालों में कोरोना पीड़ितों का इलाज होगा
बिहार के सभी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पतालों में कोरोना का इलाज होगा (प्रतीकात्मक तस्वीर)

राज्य में पहले से NMCH, पटना, ANMCH, गया और JLNMCH, भागलपुर कोरोना के लिए डेडिकेटेड अस्पताल कार्यरत हैं. अब अन्य सभी छह सरकारी मेडिकल कॉलेज अस्पतालों को भी कोविड अस्पताल बनाया गया है.

  • Share this:
पटना. कोरोना संक्रमित मरीजों (Corona infected patients) की बढ़ती संख्या को देखते हुए बिहार सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने बड़ा फैसला लिया है. इसके तहत प्रदेश के सभी 9 मेडिकल कॉलेज अस्पतालों को कोविड अस्पताल  (Covid Hospital) घोषित कर दिया गया है और इन सभी अस्पतालों में 50 प्रतिशत शैय्या को आइसोलेशन बेड बनाने का निर्देश जारी कर दिया गया है. स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव उदय सिंह कुमावत (Uday Singh Kumawat, Principal Secretary, Health Department )के जारी आदेश के अनुसार सभी मेडिकल कॉलेजों में 100 बेड की क्षमता रहेगी एवं सभी पर ऑक्सीजन सिलिंडर की व्यवस्था का भी निर्देश दिया गया है. शनिवार से ही इन अस्पतालों में कोविड मरीजों की भर्ती शुरू हो जाएगी.

बता दें कि राज्य में पहले से एनएमसीएच, पटना, एएनएमसीएच, गया और जेएलएनएमसीएच, भागलपुर कोरोना के लिए डेडिकेटेड अस्पताल कार्यरत हैं. अब अन्य सभी छह सरकारी मेडिकल कॉलेज अस्पतालों के प्राचार्य और अधीक्षक को इस संबंध में निर्देश दिया गया है. प्रधान सचिव ने अपने आदेश में कहा कहा है कि सभी निर्देशित संस्थान में कोरोना मरीजों के इलाज के लिए अलग भवन (ब्लॉक) को चिन्हित करें.  साथ ही, उनमें 100-100 आईसोलेशन बेड की व्यवस्था करें ताकि वहां कोरोना पीड़ितों का इलाज किया जा सके.

नये निर्देश के तहत बिहार के 38 जिलों को सभी 9 मेडिकल कॉलेज अस्पताल से जोड़ा गया है और इनके क्षेत्र भी निर्धारित कर दिए गए हैं. इन मेडिकल कॉलेजों में संबंधित जिलों के कोरोना पीड़ित गंभीर मरीजों का इलाज किया जाएगा.



क्षेत्रवार जानें कि किस अस्पताल में किन जिलों के मरीजों का इलाज होगा
पीएमसीच, पटना - पटना, सारण (छपरा), सीवान व गोपालगंज
डीएमसीएच, दरभंगा- दरभंगा, मधुबनी, समस्तीपुर, सुपौल एवं बेगूसराय
एसकेएमसीएच, मुजफ्फरपुर- सीतामढ़ी, मुजफ्फरपुर व शिवहर
वर्द्धमान आयुर्विज्ञान संस्थान अस्पताल, पावापुरी, नालंदा -नालंदा, नवादा और शेखपुरा
जीएमसीएच, बेतिया - पूर्वी व पश्चिमी चंपारण
जननायक कर्पूरी ठाकुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल, मधेपुरा - सहरसा, मधेपुरा, पूर्णिया, अररिया, कटिहार व किशनगंज

तीन कोविड डेडिकेटेड अस्पतालों से इन जिलों को जोड़ा गया  
एनएमसीएच, पटना- भोजपुर, बक्सर, वैशाली, रोहतास व कैमूर
जेएलएन एमसीएच, भागलपुर - भागलपुर, बाँका, मुंगेर, खगड़िया, जमुई व लखीसराय
एएनएम सीएच, गया - गया, औरंगाबाद, जहानाबाद व अरवल

पटना AIIMS भी कोविड मरीजों के लिए डेडिकेटेड
गौरतलब है कि बिहार सरकार ने पटना के एम्स भी को पूरी तरह से कोविड-19 हॉस्पिटल के रूप में घोषित कर दिया गया. इस बारे में बिहार सरकार के अपर सचिव कौशल किशोर की ओर से जारी निर्देश में कहा गया है कि पटना के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के चिकित्सा अधीक्षक से प्राप्त प्रस्ताव और अनुशंसा के आलोक में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान को डेडिकेटेड कोविड 19 अस्पताल के रूप में चिह्नित किया जाता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading