Bihar : लॉकडाउन में बंद था कॉलेज तो अजगर ने जमा लिया डेरा, वन विभाग ने किया रेस्क्यू

कॉलेज परिसर में इस अजगर को देख मची अफरातफरी.
कॉलेज परिसर में इस अजगर को देख मची अफरातफरी.

ताजा मामला बिहार (Bihar) के बगहा (Bagaha) के मधुबनी पंचायत से सामने आया है. यहां के हरदेव प्रसाद इंटरमीडिएट कॉलेज में विशालकाय अजगर (pythone) सांप पाया गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 22, 2020, 11:42 PM IST
  • Share this:
बगहा. कोरोना महामारी (Corona epidemic) के दौरान जारी लॉकडाउन (Lockdown) के बीच शहर का शोर लगभग थम सा गया था. ऐसे शांत माहौल में जंगली जीव जंगल और शहर का फर्क भूल गए. कई वीडियो ऐसे दिखे जिनमें जंगली जानवर शहर की सड़कों पर चहलकदमी कर रहे थे. इस दौरान सांपों का मिलना तो जैसे आम बात हो गई थी. पहले लॉकडाउन के दौरान गुजरात (Gujrat) के दाहोद से खबर आई थी कि वहां 24 घंटे में 25 जहरीले सांप सड़कों पर भटकते मिले है. इसी तरह उत्‍तराखंड (Uttarakhand) के ऋषिकेश (Rishikesh) स्थित मुनि की रेती इलाके के डॉ. विकास कुमार के घर के एयर कंडीशनर में जहरीला सांप देखा गया था. सांप को एयर कंडीशनर के अंदर देखकर घरवालों के पसीने छूट गए थे. डॉ. विकास ने तत्‍काल फोन कर वन विभाग से मदद मांगी थी. अब ताजा मामला बिहार (Bihar) के बगहा (Bagaha) के मधुबनी पंचायत से सामने आया है. यहां के एक कॉलेज में विशालकाय अजगर (pythone) सांप पाया गया.

अजगर देख चिल्लाने लगे बच्चे

खबर मिली कि बगहा के मधुबनी पंचायत स्थित हरदेव प्रसाद इंटरमीडिएट कॉलेज के प्रांगण में बच्चों ने अजगर सांप देखा. अजगर निकलने की खबर तेजी से फैल गई. इसके बाद बच्चों और शिक्षकों के बीच अफरातफरी मच गई. कॉलेज में अफरातफरी का माहौल देख ग्रामीण भी वहां पहुंचे लगे. इस दौरान भीड़ के शोर को सुनकर शांत बैठा अजगर कॉलेज की बाउंड्री के बीच की झाड़ी में जा छुपा. ग्रमीणों ने अजगर को वहां से हटाने की लाख कोशिशें कीं, लेकिन डरा-सहमे अजगर ने वहीं डेरा जमाया रखा.



अजगर होने की सूचना मिलने के बाद वन विभाग की टीम ने कॉलेज पहुंचकर रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया.
अजगर होने की सूचना मिलने के बाद वन विभाग की टीम ने कॉलेज पहुंचकर रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया.



महीनों से बंद था कॉलेज

गौरतलब है कि करोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए जारी सरकार के आदेश से लॉकडाउन जारी था. इस दौरान हरदेव प्रसाद इंटरमीडिएट कॉलेज भी बंद था. मुमकिन है कि बरसात की वजह से सूखी जगह तलाशता यह अजगर कॉलेज में पहुंच गया हो. सूत्र बताते हैं कि इस कॉलेज की दक्षिण दिशा में बाउंड्री न होने के कारण यहां अक्सर गन्ने के खेतों की झाड़ियों से सांप आ जाते हैं. विद्यालय के प्रधानाध्यापक संतोष कुमार त्रिपाठी ने बताया कि सोमवार से विद्यालय में नामांकन एवं रजिस्टेशन इत्यादि के लिए 11:00 बजे के आसपास जब बच्चे कॉलेज में पहुंचे तो देखा कि अजगर यहां के परिसर में घूम रहा है. अजगर देख बच्चे भागने लगे. कॉलेज में अजगर निकलने की बात गांव में आग की तरह फैल गई. अजगर होने की सूचना पंचायत के मुखिया सुमित चौहान तक भी पहुंची. तब उन्होंने वन विभाग को यह जानकारी दी. और तब विभाग की टीम ने कॉलेज परिसर पहुंचकर अजगर का रेस्क्यू किया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज