लाइव टीवी

तेजस्वी यादव की इमोशनल अपील- 'पापा जेल में हैं, अब आप लोग ही मेरा परिवार'

News18 Bihar
Updated: May 7, 2019, 11:21 AM IST

तेजस्वी ने पश्चिमी चम्पारण लोकसभा क्षेत्र में जनता को संबोधित करते हुए ये बातें कही. उन्होंने कहा, 'भले ही बीजेपी वालों ने साजिश के तहत मेरे पिता लालू प्रसाद यादव को जेल में डाल दिया, लेकिन अभी भी उनका बेटा चट्टान की तरह खड़ा है.

  • Share this:
राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) प्रमुख लालू प्रसाद यादव के छोटे बेटे तेजस्वी यादव बिहार में जोर-शोर से चुनाव प्रचार में जुटे हैं. इस दौरान वह आरजेडी उम्मीदवार को वोट दिलाने के लिए जनता से इमोशनल अपील करने से भी नहीं चूक रहे. तेजस्वी ने एक रैली में जनता को अपना परिवार बताया.

तेजस्वी यादव ने कहा, 'मेरे पिता जेल में हैं. ऐसे में मेरा घर-परिवार सब आप हीं लोग हैं. यही वजह है कि मैं आपके बीच आया हूं, ताकि आपलोग महागठबंधन प्रत्याशी को जिता कर लालू यादव के साथ हुए अन्याय का बदला ले सके.' इस दौरान तेजस्वी ने महागठबंधन प्रत्याशी ब्रजेश कुश्वाहा को जिताने की अपील भी की.

लोकसभा चुनाव 2019: JDU प्रवक्ता के विवादित बोल, 'शूर्पणखा' से की मीसा भारती की तुलना

तेजस्वी ने पश्चिमी चम्पारण लोकसभा क्षेत्र में जनता को संबोधित करते हुए ये बातें कही. उन्होंने कहा, 'भले ही बीजेपी वालों ने साजिश के तहत मेरे पिता लालू प्रसाद यादव को जेल में डाल दिया, लेकिन अभी भी उनका बेटा चट्टान की तरह खड़ा है. मेरे पिता जेल में हैं, अब आप सब लोग ही मेरा परिवार हैं.' तेजस्वी ने कहा कि प्रदेश के जनता मेरे साथ है और मेरा कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता है.



जीतेगी तो आरजेडी ही

वहीं, बीजेपी कार्यकर्ताओं पर तंज कसते हुए तेजस्वी यादव ने कहा- 'अगर इस सभा में कोई भाजपाई है और वह खुफिया रिपोर्टिंग करने आया है, तो कान खोल कर सुन लो. जीत तो राजद की ही होगी.'
Loading...


पलटू चाचा को भगाओ

इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधा. तेजस्वी ने नीतीश कुमार पर तंज कसते हुए जनता से कहा, 'पलटू चाचा को भगाओ और बिहार बचाओ.'  उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार के साथ साथ सुशील कुमार मोदी को भी भगाना होगा.

पीएम मोदी के लिए कही ये बात
वहीं, पीएम मोदी के लिए तेजस्वी ने कहा कि देश इस बार बदलाव चाहता है. बदलाव जल्द ही दिख जाएगा.

क्यों जेल में हैं लालू?
गौरतलब है कि लालू प्रसाद यादव को 900 करोड़ रुपये से अधिक के चारा घोटाले से संबंधित तीन मामलों में दोषी ठहराया जा चुका है. उन्हें 7-7 साल की सजा सुनाई गई है. ये मामले 1990 के दशक के हैं, जब झारखंड बिहार का हिस्सा था. सभी मामले धोखे से पशुपालन विभाग के खजाने से धन निकालने से संबंधित हैं.

लालू प्रसाद ने हाई कोर्ट में जमानत के लिए अपनी उम्र और गिरते स्वास्थ्य का हवाला देते हुए कहा था कि वह डायबिटीज़, ब्लड प्रेशर और कई अन्य बीमारियों से जूझ रहे हैं. इसलिए उन्हें जमानत दी जाए. लेकिन कोर्ट ने उनकी अर्जी खारिज कर दी. उन्हें चारा घोटाले से संबंधित एक मामले में पहले ही जमानत मिल गई थी.

ये भी पढ़ें- 

'NDA मजबूती से कर रहा काम, लक्ष्य मोदी को दोबारा PM बनाना'

बिहार: मुजफ्फरपुर के होटल से मिले EVM, बवाल के बाद कार्रवाई

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पश्चिमी चंपारण से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 7, 2019, 8:12 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...