लाइव टीवी

वाल्मीकि नगर लोकसभा सीट: 2014 में BJP की जीती सीट पर JDU लगा रही है जीत का दांव

Subhesh Sharma | News18 Bihar
Updated: May 12, 2019, 11:36 AM IST
वाल्मीकि नगर लोकसभा सीट: 2014 में BJP की जीती सीट पर JDU लगा रही है जीत का दांव
जेडीयू ने जारी किया नया पोस्टर

2019 के लोकसभा चुनाव में वाल्मीकि नगर एनडीए की तरफ से जेडीयू के खाते में गया है. इस सीट से बैद्य नाथ माहतो उम्मीदवार हैं. कांग्रेस ने इस सीट से शाश्वत केदार को टिकट दिया है

  • Share this:
वाल्मीकि नगर लोकसभा सीट का अस्तित्व 2008 के परिसीमन में सामने आया. इसके पहले इस इलाके को बगहा लोकसभा सीट कहा जाता था. ये सीट तिरहुत डिवीजन के पश्चिमी चंपारण जिले में आता है. ये इलाका बिहार का उत्तर-पश्चिमी छोर है. इसकी सीमा नेपाल से लगती है. बॉर्डर इलाका होने की वजह ये यहां अपराध और भ्रष्टाचार पर लगाम लगाना हमेशा से मुश्किल रहा. हथियारों से लेकर मादक पदार्थ मारिजुआना की तस्करी की खबरें अक्सर सुनने में आती हैं. इन्हीं सब की वजह से ये इलाका राजनीतिक तौर पर अस्थिर भी बना रहा है.

इस इलाके का गौरवशाली इतिहास रहा है. कहा जाता है कि प्राचीन काल में महर्षि वाल्मीकि ने इसी इलाके में रहकर रामायण की रचना की. अंग्रेजी शासन के दौरान बिहार में ये आंदोलनों की धरती बनकर उभरा. महात्मा गांधी ने इसी इलाके से सत्याग्रह आंदोलन की शुरुआत की थी. ये इलाका प्रसिद्ध कवि गोपाल सिंह नेपाली की जन्मस्थली भी है.

2019 के लोकसभा चुनाव में वाल्मीकि नगर एनडीए की तरफ से जेडीयू के खाते में गया है. इस सीट से बैद्य नाथ माहतो उम्मीदवार हैं. कांग्रेस ने इस सीट से शाश्वत केदार को टिकट दिया है. मुख्य मुकाबला इन्हीं दोनों उम्मीदवारों के बीच है.

JDU would participate in Gujrat election without alliance with bjp<br /> ( photo PTI)
नीतीश कुमार


वाल्मीकिनगर सीट का राजनीतिक गणित

आजादी के बाद कुछ वर्षों तक इस सीट पर कांग्रेस का दबदबा रहा. आंदोलनों की धरती पर पार्टी का अच्छा प्रभाव रहा. लेकिन इमरजेंसी और उसके बाद हालात बदले. परिसीमन के बाद 2009 में इस सीट से जेडीयू के बैद्यनाथ माहतो जीते. उन्होंने निर्दलीय उम्मीदवार फखरूद्दीन को बड़े अंतर से हराया. 2014 में इस सीट से बीजेपी के सतीश चंद्र दुबे ने जीत हासिल की थी. उन्होंने कांग्रेस के पूर्णमासी राम को 1 लाख से ज्यादा वोटों के अंतर से हराया था. जेडीयू के बैद्यनाथ माहतो तीसरे नंबर पर रहे थे.

इस बार एनडीए के खाते से ये सीट जेडीयू को मिली है. जेडीयू ने अपने पुराने उम्मीदवार बैद्यनाथ माहतो पर भी भरोसा जताते हुए उन्हें टिकट दिया है. जबकि महागठबंधन की तरफ से ये सीट कांग्रेस के खाते में गई है. कांग्रेस ने इस सीट से शाश्वत केदार को टिकट दिया है. शाश्वत केदार राजनीति में नया नाम हैं. इनके दादा केदार पांडेय बिहार के मुख्यमंत्री और केंद्र में रेल मंत्री रह चुके हैं. पिता मनोज पांडेय भी सांसद रह चुके हैं. महागठबंधन की ओर से ये इकलौते ब्राह्मण उम्मीदवार हैं.
Loading...

Nitish kumar to join NDA, JDU with NDA, NDA and JDU, JDU in center, Nitish Kumar news, Bihar politics, Bihar in centre, Nitish Kumar JDU, Sharad Yadav against JDU,Nitish join hands with Modi, Modi and Nitish, Nitish NDA convener, JDU ministers in center
File Photo


वाल्मीकि नगर सीट पर किसका दबदबा

वाल्मीकि नगर सीट के तहत 6 विधानसभा सीटें आती हैं- वाल्मीकि नगर, रामनगर, नरकटियागंज, बगहा, लौरिया और सिकटा. 2015 के विधानसभा चुनाव में 6 में से 3 सीटें बीजेपी के पक्ष में गई थी. जबकि 1 सीट जेडीयू और 2 में 1 पर कांग्रेस और 1 पर निर्दलीय उम्मीदवार ने जीत हासिल की थी. 2014 के लोकसभा चुनाव में यहां मोदी फैक्टर ने काम किया था. बीजेपी के सतीश चंद्र दुबे को करीब 24 फीसदी वोट हासिल हुए थे. जबकि कांग्रेस को 16 और जेडीयू को सिर्फ 5 फीसदी वोट हासिल हुए थे. इस बार एनडीए में जेडीयू के शामिल होने की वजह से बैद्य नाथ माहतो के लिए जीत की राह आसान हो गई है.

ये भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव 2019: मधुबनी के मैदान में तिकोना संघर्ष, फातमी के हटने से बदला समीकरण

ये भी पढ़ें: काराकाट लोकसभा सीट: उपेन्द्र कुशवाहा क्या दोबारा जीतने की स्थिति में हैं?

ये भी पढ़ें: पूर्वी चंपारण: कभी कांग्रेस का गढ़ रही इस सीट में अब कमल का दबदबा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पश्चिमी चंपारण से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 4, 2019, 2:37 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...