लाइव टीवी

बंद होने के कगार पर वाल्मीकिनगर पनबिजली परियोजना, तीन में से दो यूनिट फेल

Munna Kumar | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: December 22, 2017, 10:12 AM IST

तत्कालीन मुख्यमंत्री लालू यादव ने वाल्मीकिनगर जल विद्युत परियोजना का उद्घाटन कर पूरे इलाके को रोशन किया था, लेकिन अब इसपर ग्रहण लगता दिख रहा है. बिहार के लिए वरदान साबित होने वाली यह परियोजना अब भगवान भरोसे है.

  • Share this:
भारत-नेपाल सीमा पर स्थित वाल्मीकिनगर जलविद्युत परियोजना भगवान भरोसे है. लालू यादव की सरकार में इसकी शुरुआत की गई थी. अधिकारियों और सरकार की उदासीनता की वजह से अब यह बंदी के कगार पर आ चुकी है. सरकार ने इसकी देखरेख की जिम्मेदारी बीएचपीसी को सौंपी है. राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने मुख्यमंत्री रहते हुए वर्ष 1995 में इसकी शुरुआत की थी. वाल्मीकिनगर की नहरों से जल परियोजनाओं के माध्यम से बिहार को रोशन करने के लिए इस परियोजना की शुरुआत की थी.

तत्कालीन मुख्यमंत्री लालू यादव ने वाल्मीकिनगर जल विद्युत परियोजना का उद्घाटन कर पूरे इलाके को रोशन किया था, लेकिन अब इसपर ग्रहण लगता दिख रहा है. बिहार के लिए वरदान साबित होने वाली यह परियोजना अब भगवान भरोसे है.

इस प्रोजेक्ट के तीन यूनिट में से दो यूनिट काम के लायक नहीं बचे हैं. तीसरा यूनिट भी जुगाड़ के सहारे चल रहा है. सरकार ने इसकी देखरेख की जिम्मेदारी बीएचपीसी को सौंपी तो जरुर, मगर अधिकारियों को इसकी सुध लेने की फुर्सत ही नहीं मिली. सरकार को राजस्व देने वाली यह परियोजना बदहाली झेल रही है. तीसरे यूनिट को चलाने के लिए पानी भी नहीं मिल पा रहा है.

हर घर बिजली पहुंचाने का दावा कर रही सरकार इस परियोजना को पानी उपलब्ध कराने में भी असफल रही है, जिससे बिहार को बिजली की किल्लत से निजात मिलने के साथ ही राजस्व का भी भारी नुकसान हुआ है. जिम्मेदारी संभाल रहे बीएचपीसी के अधिकारी राजधानी छोड़कर इधर देखना नहीं चाहते और जो एक संविदा पर हैं उनके पास कोई सार्थक जवाब भी नहीं है.

जलविद्युत परियोजना के शुरु होने के बाद लोगों की आंखों में जो चमक दिखी वह अब फींकी पड़ने लगी है. परियोजना की बदहाली सरकारी की उदासीनता पर सवाल उठाती है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पश्चिमी चंपारण से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 22, 2017, 8:18 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...