लाइव टीवी

नीतीश के 'सात निश्चय' की हकीकत: कर्ज लेकर निर्माण कराने के बाद खुद ही शौचालय तोड़ रहे लोग

Prafful kumar | ETV Bihar/Jharkhand
Updated: August 5, 2017, 3:44 PM IST
नीतीश के 'सात निश्चय' की हकीकत: कर्ज लेकर निर्माण कराने के बाद खुद ही शौचालय तोड़ रहे लोग
शौचालय तोड़ते लोग

सीएम के यहां से जाने के बाद से शौचालय बनवा चुके लोग आज अपने हाथ से हीं सरकारी योजना का अस्तित्व मिटाने पर लगे हैं. ग्रामीण नवल पाठक, विकास कुमार ने बताया कि कर्ज लेकर हमने शौचालय बनाया लेकिन हमें पैसे नहीं मिल सके.

  • Share this:
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सात निश्चय योजना बेतिया जिले में दम तोड़ती नजर आ रही है. आलम यह है कि जंहा से सीएम नीतीश कुमार ने सात निश्चय योजना की शुरूआत की थी वहीं के लोग अपने हाथों सरकार की योजना का अंतिम संस्कार कर रहे हैं.

मामला शौचालय निर्माण में हुई गड़बड़ी से जुड़ा है. राज्य के मुखिया नीतीश कुमार के लिए पश्चिम चम्पारण जिला काफी शुभ माना जाता है और सीएम अपने सारे कार्य यहीं से शुरू करते हैं. इसी सोच के साथ नीतीश कुमार ने अपने सात निश्चय योजना के तहत हर घर नल का जल व घर घर शौचलाय योजना की शुरूआत जिले के नौतन प्रखंड के पकड़िया पंचायत के मुरतिया टोला से पिछले वर्ष की थी.

सीएम के यहां से जाने के बाद से शौचालय बनवा चुके लोग आज अपने हाथ से हीं सरकारी योजना का अस्तित्व मिटाने पर लगे हैं. ग्रामीण नवल पाठक, विकास कुमार ने बताया कि कर्ज लेकर हमने शौचालय बनाया लेकिन हमें पैसे नहीं मिल सके.

पकड़िया पंचायत के हीं एक दूसरे टोले में भी घर-घर शौचालय निर्माण कराया गया लेकिन पदाधिकारियों की मनमानी के कारण आज तक उन्हें पैसे का भुगतान नहीं हो पाया लिहाजा अब लोग इसे तोड़ने मे हीं भलाई समझ रहे है. ग्रामीणों के मुताबिक कर्ज लेकंर तो उन्होंने किसी तरह शौचालय का निर्माण करा लिया लेकिन अब पैसा नहीं मिलने के कारण दुकानदार इन्हे पैसे के लिए परेशान कर रहे हैं.

सबसे हैरत की बात तो यह है कि तीन माह पहले हीं यह पंचायत खुले मे शौच मुक्त भी हो चुका है लेकिन शौचालय निर्माण के नौ माह बीत जाने के बाद भी आज तक लोगों को पैसा नहीं मिला.

जिन लोगों ने अपने से शौचालय का निर्माण करवाया उन्हें एक पैसा भी नहीं मिला जबकि प्रशासन ने ठेकेदारो द्वारा जितने भी शौचालय बनवाया गया उन सभी का भुगतान कर दिया.स्थानीय लोगों रामेश्वर मुखिया, रेखा देवी और दिनेश साह ने भी पैसे के न भुगतान होने को सरकारी उदासीनता का परिणाम बताया.

सूबे के मुखिया नीतीश कुमार ने नवम्बर 2016 मे लोहिया स्वच्छता मिशन के तहत नौतन के पकड़िया पंचायत मे नल का जल व शौचालय का उदघाटन किया था और आज नौ माह बाद इसी पंचायत के रेखासुन्दर पट्टी टोला के नया बस्ती वार्ड नम्बर 3-4 में लोग इस योजना की कमी का खामियाजा भुगतने लगे हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पश्चिमी चंपारण से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 5, 2017, 3:19 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर